Advertisements

जब वैष्णो देवी के भवन में हुआ चमत्कार, आप भी जनिये 2014 की यह घटना

धर्म डेस्क। कहते हैं माता से सच्चे मन से जो मांगो वह मिलता है। माता अपने भक्तों की मनोकामनाएं पूरी करती हैं। नवरात्रि के पावन पर्व पर देश-विदेश से माता वैष्णो देवी के भक्त उनके दरबार पहुंचते हैं। माता के दर्शन करने के लिए भक्तों का तांता लगा रहता है। आज हम आपको साल 2014 की एक घटना से रूबरू कराते हैं। माता के दरबार में यह अपने तरह की पहली घटना थी। जिसके पीछे की पूरी कहानी जानकर उस स्थान पर मौजूद लोगों को हैरानी भी हुई।

अपने आप में अनोखे इस मामले में मेरठ निवासी सुरवेश कुमार की गर्भवती पत्नी राज बाला (35) पवित्र गुफा के बाहर गेट नंबर तीन पर दोपहर लगभग एक बजे अपनी बारी का इंतजार कर रही थी।

इसी दौरान महिला को प्रसव पीड़ा उठी और वह वहीं बैठ गई। सूचना पाकर भवन डिस्पेंसरी से एक टीम तत्काल मौके पर पहुंची।

पंक्ति में खड़ी अन्य महिलाओं के सहयोग से राज बाला ने एक बेटे को जन्म दिया। बाद में उसे तत्काल हेल्थ सेंटर ले जाया गया। पुलिस के अनुसार महिला और बच्चे को स्वास्थ्य सुविधा मुहैया करने के बाद डिस्चार्ज कर दिया गया।

पवित्र गुफा में इस तरह की यह पहली घटना थी। लड़के को जन्म देने के बाद महिला की खुशी का ठिकाना नहीं रहा। राज बाला ने बताया कि इससे पहले उसकी दो लड़कियां हैं। गर्भ का अंतिम समय होने के बावजूद वह मां के पास लड़के की आस के साथ प्रार्थना करने पहुंची थी।

वह पंक्ति में खड़ी होकर मां से प्रार्थना कर रही थी कि उसे दर्द उठा। उस वक्त महिला ने कहा कि मुझे खुशी है कि मां ने मेरी प्रार्थना सुनी और झोली में बेटा डाला।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *