शहर

जेल में किसानों का उपवास, 1 की हालत बिगड़ी

Advertisements
कटनी। अखिल भारतीय किसान महासंघ के आवाहन पर हाइवे जाम को लेकर जिला प्रशासन पूरे दिन हलाकान रहा। वहीं, दूसरी तरफ वेलस्पन इनर्जी द्वारा जमीन अधिग्रहण मामले में जेल में अनशन कर रहे किसान नेता विंदेश्वरी पटेल की हालत खराब होने पर जबलपुर जेल भेज दिया गया। समाजवादी चिंतक रघु ठाकुर और कांग्रेस नेताओं ने भी किसानों के आंदोलन का समर्थन किया है। किसानों के चौतरफे विरोध को लेकर जिला और पुलिस प्रशासन पूरे दिन परेशान रहा। पुलिस प्रशासन किसी मामले से निपटने के लिए सतर्क रहा, तो कलेक्टर भी कोतवाली में बैठकर आंदोलन की पल-पल की जानकारी लेते रहे।
हाइवे पर मुस्तैद रही पुलिस
मंदसौर में हुए किसानों की मौत के बाद अखिल भारतीय किसान महासंघ के आह्वान पर हाइवे जाम पर स्थानीय पुलिस मुस्तैद रही। सतना से लेकर जबलपुर की सीमा तक सुरक्षा बल सतर्क रहा। किसी भी अनहोनी घटना से निपटने के लिए हाइवे पर फायर ब्रिगेड, एंबुलेंस के साथ दंगा वाहन (बज्र) तैनात किया गया था। जिले से गुजरने वाले दोनों राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुरक्षा बल के साथ अफसर मौजूद रहे। जानकारी के मुताबिक मंदसौर में हुए गोलीकांड के विरोध में किसान महासंघ ने हाइवे जाम की धमकी दी थी। धमकी के बाद जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन सक्रिय हो गया था। शुक्रवार को एसपी शशिकांत शुक्ल और कलेक्टर विशेष गढ़पाले कोतवाली पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेते रहे। पुलिस प्रशासन ने हाइवे जाम की स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह मुस्तैद रहा। एसपी शशिकांत शुक्ल ने कहा कि जिले में किसानों का आंदोलन शांतिपूर्ण था। किसी भी स्थान पर अप्रिय घटना का समाचार नहीं है।
विरोध में कैंडिल मार्च
स्टेशन चौराहे पर गोली कांड में मारे गए किसानों की आत्मा की शांति के लिए केंडिल जलाकर शोक सभा का आयोजन किया गया।कार्यक्रम का आयोजन कांग्रेस नेता राकेश जैन कक्का व पूर्व मंडी सदस्य शिव कुमार यादव ने किया। कार्यक्रम में सबसे पहले कांग्रेस जनों ने कैंडिल जलाकर मृत आत्माओं की शांति के लिए प्रभु से प्रार्थना की।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button