खेल

भारत का पलड़ा भारी, लेकिन बचकर रहना होगा

भारत और पाकिस्तान के बीच रविवार को ओवल में चैंपियंस ट्रॉफी फाइनल खेला जाएगा। वर्तमान प्रदर्शन को देखते हुए गत विजेता भारत के खिताब पर कब्जा बरकरार रखने की संभावना ज्यादा है, लेकिन उसे उलटफेर करने में माहिर पाकिस्तान से बचकर रहना होगा। 
विराट कोहली की टीम इंडिया इस समय जबर्दस्त फॉर्म में है और अपने पहले मैच में सरफराज अहमद की युवा पाकिस्तानी टीम को डकवर्थ-लुईस पद्धति से 124 रनों से हरा चुकी है। टूर्नामेंट में अंतिम क्रम की टीम पाकिस्तान पहली बार फाइनल में पहुंची है, इसलिए उसके खिलाड़ी बिना किसी दबाव के उन्मुक्त होकर भारतीय चुनौती का सामना करने मैदान में उतरेंगे।

आपसी रिकॉर्ड : 
वैसे यदि इन दोनों टीमों के बीच अभी तक खेले गए कुल वन-डे मैचों की बात की जाए तो पाकिस्तान का वर्चस्व रहा है। इनके बीच अभी तक हुए 128 मैचों में से 72 पाकिस्तान ने जीते जबकि भारत 52 मैच ही जीत पाया है। इनके 4 मैच बेनतीजा रहे।
पिछले 10 मैचों में भारत का दबदबा: 
यदि 2010 से लेकर इन दोनों टीमों के बीच खेले गए 10 मैचों के परिणामों पर नजर डाले तो भारत का पलड़ा भारी नजर आता है। भारत ने इन 10 मैचों में से 7 मैच जीते जबकि 3 में उसे हार का सामना करना पड़ा।
आईसीसी टूर्नामेंट्‍स में भारत बादशाह : 
यदि इन दोनों देशों के बीच आईसीसी टूर्नामेंट्स में प्रदर्शन की बात की जाए तो भारत के सामने पाकिस्तान टिक नहीं पाया है। इनके बीच आईसीसी टूर्नामेंट्‍स में अभी तक कुल 15 मैच खेले गए, जिनमें से भारत ने 13 बार बाजी मारी जबकि पाकिस्तान मात्र 2 मैच जीत पाया है। वो दो मैच भी उसने चैंपियंस ट्रॉफी में ही जीते थे। आईसीसी वन-डे टूर्नामेंट्‍स में इनके बीच अभी तक 10 मैच हुए जिनमें से भारत ने 8 और पाकिस्तान ने 2 मैच जीते।
फाइनल्स में पाक का पलड़ा भारी: 
यदि इन दोनों टीमों के बीच हुए वन-डे के विभिन्न टूर्नामेंट्‍स के फाइनल मैचों की बात की जाए तो पाक का पलड़ा भारी रहा है। इन दोनों टीमों के बीच 8 वन-डे खिताबी मुकाबले खेले गए, जिनमें से पाकिस्तान ने 6 बार खिताब जीते जबकि भारत 2 बार ही चैंपियन बन पाया।
10 सालों बाद आईसीसी टूर्नामेंट का फाइनल : भारत और पाकिस्तान के बीच 10 सालों बाद किसी आईसीसी टूर्नामेंट का फाइनल खेला जा रहा है। इससे पहले इनके बीच हुए 2007 टी20 विश्व कप के फाइनल में भारत विजयी हुआ था। 

AD

AD
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button