मध्यप्रदेशहाेम

मध्य प्रदेश में आज भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर संभाग सहित इन इलाकों में तेज बारिश की संभावना

बंगाल की खाड़ी में हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बन गया है।

Advertisements

MP Monsoon Update:  बंगाल की खाड़ी में हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बन गया है। यह सिस्टम गुरुवार को कम दबाव के क्षेत्र में परिवर्तित होगा। इसके प्रभाव से शुक्रवार को पूर्वी मध्यप्रदेश के जिलों में कहीं-कहीं भारी वर्षा होने की संभावना है। उधर बंगाल की खाड़ी और अरब सागर से आ रही नमी के कारण कुछ जिलों में बौछारें पड़ने का सिलसिला बना हुआ है। इसी क्रम में बुधवार को सुबह साढ़े आठ बजे से शाम साढ़े पांच बजे तक नौगांव में 60, नरसिंहपुर में 24, मलाजखंड में 11, मंडला में आठ, खजुराहो में 7.2, पचमढ़ी में छह, रायसेन, छिंदवाड़ा, बैतूल में चार, इंदौर, धार, सागर में तीन, रीवा, रतलाम में दो मिलीमीटर बरसात हुई। राजधानी में शाम के समय रिमझिम फुहारें पड़ीं। मौसम विज्ञान केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार को राजधानी का अधिकतम तापमान 30.8 डिग्रीसेल्सियस दर्ज किया गया। यह सामान्य से एक डिग्रीसे. अधिक रहा। साथ ही मंगलवार के अधिकतम तापमान (28.7 डिग्रीसे.) की तुलना में 2.1 डिग्रीसे. अधिक रहा। न्यूनतम तापमान 24.6 डिग्रीसे. रिकार्ड किया गया।

यह भी पढ़ें-  MP में निकाय चुनाव की तैयारी में जुटी शिवराज सरकार, बदलेंगे कई नियम

इन स्थानों पर बारिश के आसार

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी जीडी मिश्रा ने बताया कि वर्तमान में बंगाल की खाड़ी में एक चक्रवात बना है। इसके प्रभाव से गुरुवार को सागर, रीवा, जबलपुर, शहडोल, भोपाल, होशंगाबाद, ग्वालियर, चंबल, उज्जैन एवं इंदौर संभाग के जिलों में बारिश की संभावना है। शुक्रवार को पूर्वी मप्र और उससे लगे पश्चिमी मप्र के कुछ जिलों में भारी वर्षा की भी संभावना है।

लगातार मिल रही है नमी

मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में पूर्वी उत्तरप्रदेश पर हवा के ऊपरी भाग में एक चक्रवात बना हुआ है। साथ ही मानसून ट्रफ अमृतसर, करनाल, अलीगढ़, जमशेदपुर से होते हुए बंगाल की खाड़ी तक बना हुआ है। इस वजह से लगातार मिल रही नमी के कारण प्रदेश के विभिन्ना क्षेत्रों में रुक-रुक कर बारिश का सिलसिला बना हुआ है।

Show More
Back to top button