राष्ट्रीयहाेम

Modi Cabinet: कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसले, 2026 तक जारी रहेगा राष्ट्रीय आयुष मिशन

कैबिनेट की बैठक में कई अहम फैसले, 2026 तक जारी रहेगा राष्ट्रीय आयुष मिशन

Advertisements

Modi Cabinet Decision: बुधवार को केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कई अहम प्रस्तावों को मंजूरी दी। बाद में केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने एक प्रेस कॉन्फेंस में इन तमाम फैसलों क जानकारी दी। इस बैठक में लिये गये अहम फैसलों में केन्द्री कर्मचारियों के महंगाई भत्ते को बढ़ाकर 28 फीसदी करना और राष्ट्रीय आयुष मिशन (National Ayush Mission) को 2026 तक जारी रखने का निर्णय शामिल है। इसके अलावा पशुपालन, टेक्सटाइल उद्योग और जहाजरानी से जुड़े हुए कुछ अहम फैसले भी लिये गये।

1. केंद्र के कर्मचारियों को डियरनेस अलाउंस (DA) और पेंशनर को डियरनेस रिलीफ की बहाली करने का निर्णय लिया गया है। अब DA की दर को 17 प्रतिशत से बढ़ाकर 28 फीसदी हो जाएगी। इसे एक जुलाई 2021 से लागू किया जाएगा। इसका कुल बजट 34 हजार करोड़ रुपये तक रहेगा।

यह भी पढ़ें-  MP By-election मध्य प्रदेश के 4 उप चुनाव में कांग्रेस ने विधायकों तो भाजपा ने मंत्रियों को लगाया डियूटी पर

2. राष्ट्रीय आयुष मिशन को वित्तीय वर्ष 2021-22 से 2025-26 तक जारी रखने का निर्णय लिया गया है। इसमें कुल 4,607.30 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। देशभर में 12,000 आयुष हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर स्थापित किए जाएंगे।

3 इसके अलावा 6 आयुष कॉलेज, 12 आयुष पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट का निर्माण किया जाएगा। 10 अंडर ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट के इंफ्रास्ट्रक्चर को अपग्रेड किया जाएगा।

4. कैबिनेट ने कपड़ों के एक्‍सपोर्ट पर राज्‍य और केंद्रीय टैक्‍स और लेवी के रियायत को 31 मार्च, 2024 तक जारी रखने का फैसला किया है।

5. नॉर्थ ईस्टर्न इंस्टीट्यूट ऑफ फोक मेडिसिन (NEIFM) का नाम बदलने की मंजूरी दे दी है। अब इसका नाम नॉर्थ ईस्टर्न इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद एंड फोक मेडिसिन रिसर्च (NEIAFMR) होगा।

6. पशुपालन और अन्य क्षेत्रों को बढ़ावा देने के लिए आधुनिक तकनीक से ब्रीड का विकास किया जाएगा और पशुओं के लिए एम्बुलेंस की व्यवस्था की जाएगी। इसके लिए केन्द्र सरकार 9800 करोड़ रुपये का फंड देगी। पूरी स्कीम करीब 54 हजार करोड़ रुपये ही है।

7. देश के अलग-अलग हिस्सों में कोर्ट हॉल बनाने, कोर्ट में सुविधाओं को बढ़ाने और इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ावा देने का भी फैसला लिया गया है।

Show More
Back to top button