Corona newsहाेम

वैक्सीन लगवाने के बाद पेनकिलर खाना हो सकता है नुकसानदेह, WHO ने दी ये चेतावनी

बाजार में उपलब्ध वैक्सीन के बारे में कहा जा रहा है कि टीकाकरण के बाद उससे हल्का या मध्यम साइड-इफेक्ट्स होता है.

Advertisements

कोविड-19 के खिलाफ 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है. बाजार में उपलब्ध वैक्सीन के बारे में कहा जा रहा है कि टीकाकरण के बाद उससे हल्का या मध्यम साइड-इफेक्ट्स होता है. टीकाकरण के बाद सबसे आम लक्षणों में शरीर का दर्द शामिल है. लेकिन, क्या दर्द कम करने के लिए आपको दर्द निवारक दवा का इस्तेमाल करना चाहिए?

 

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चेताया है कि संभावित साइड-इफेट्स की रोकथाम के लिए कोविड-19 वैक्सीन से पहले पेन किलर इस्तेमाल की सलाह नहीं दी जाती है, क्योंकि इससे वैक्सीन का असर प्रभावित हो सकता है. ऐसे में अगर किसी को वैक्सीन लगवाने के बाद बुखार, दर्द, सिर दर्द, मांसपेशी का दर्द होता है, तब क्या किया जाना चाहिए?

हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना कि पेन किलर्स को सिर्फ वैक्सीन लगवाने के बाद ही लेना चाहिए. पेन किलर्स दर्द और सूजन को कम करने का काम करते हैं. इनमें से ज्यादातर दवाएं नॉन स्टेरायडल एंटी-इंफ्लेमेटरी (NSAIDs) होती हैं जिनमें दर्द कम करने वाले केमिकल्स मौजूद होते हैं. इसमें सबसे आम दवा पैरासिटामोल है.

इन आम पेन किलर्स को नियमित रूप से लेना सही नहीं है. कई स्टडीज में ये बात सामने आ चुकी है कि दर्द की दवाओं और NSAIDs के लंबे समय तक उपयोग से दिल की बीमारी का खतरा बढ़ जाता है. हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि वैक्सीन लगवाने से पहले इस तरह की दवाएं लेने का असर वैक्सीन की क्षमता पर पड़ सकता है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इसे लेकर आगाह किया है.

वैक्सीन लगवाने से पहले दर्द की दवाएं लेने से वैक्सीन के प्रति इम्यून रिस्पॉन्स कम हो जाता है. अगर आप वैक्सीन लगवाने जा रहे हैं तो सिर्फ साइड इफेक्ट्स से बचने के लिए इस तरह की दवाएं ना लें. इस बात के अभी पूरे साक्ष्य नहीं मिले हैं कि वैक्सीन के साथ ये दवाएं मिलकर कैसा रिएक्ट करती हैं. वैक्सीन से पहले दवा लेने से इसके नुकसान भी हो सकते हैं क्योंकि हर वैक्सीन हर व्यक्ति पर अलग-अलग तरह से असर डालती है.

स्टडीज के मुताबिक इम्यून सिस्टम के काम में बाधा डालती हैं. वैक्सीन से शरीर का इम्यून सिस्टम एंटीबॉडी बनाता है जिसकी वजह से शरीर में कुछ सूजन होना आम है. इन्हीं इंफ्लेमेटरी रिएक्शन को साइड इफेक्ट्स के तौर भी जाना जाता है. वैक्सीन से पहले पेन किलर्स लेने से इम्यून सिस्टम पर असर पड़ सकता है और वो ठीक से काम नहीं कर पाता है.

चूहों पर हुई एक अन्य स्टडी में भी पाया गया कि कुछ दर्द कम करने वाली एंटीइन्फ्लामेट्री दवाएं इम्यून रिस्पॉन्स में रुकावट डालती हैं और इसकी वजह से एंटीबॉडी कम मात्रा में बनती है. ये स्टडी जर्नल ऑफ वायरोलॉजी में छपी है.

इसके अलावा ये भी कोई जरूरी नहीं है कि हर व्यक्ति को वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स महसूस ही हों और कुछ लोगों में साइड इफेक्ट इतना ज्यादा हो सकता है कि पेन किलर लेना का भी शायद कोई फायदा ना हो. ऐसे में साइड इफेक्ट्स से बचने के लिए पेन किलर्स के भरोसे रहना सही नहीं है.

वैक्सीन लगवाने के बाद बाजू में दर्द-सूजन होना, बुखार आना, ठंड लगना और कमजोरी आम साइड इफेक्ट के लक्षण हैं. ये लक्षण 2-3 दिनों में अपने आप ठीक हो जाते हैं. इसलिए हेल्थ एक्सपर्ट्स साइड इफेक्ट से बचाव के लिए दर्द की दवा ना लेने की सलाह देते हैं.

अगर आपको पहले से कोई बीमारी है और आप नियमित रूप से उसकी दवा लेते आ रहे हैं तो वैक्सीन लगवाने के लिए इन्हें लेना ना छोड़ें. वैक्सीन के समय दवा से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से जरूर संपर्क करें. कोई भी दवा ना तो खुद से लें और ना ही खुद से बंद करें.

अगर आप वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स से डरते हैं तो इसे पहले कुछ खास बातों का ध्यान रखें जिससे कि आपको साइड इफेक्ट्स कम महसूस हों. जैसे कि वैक्सीन लगवाने से एक रात पहले अच्छी नींद लें, खूब पानी पिएं, अच्छी डाइट लें और आराम करें.

यह भी पढ़ें-  लोकसभा एवं विधानसभा उपचुनाव हेतु भाजपा ने दायित्व सौंपे
Show More
Back to top button