जरा हट के

गूगल मैप्स में देखिए कौन सा पब्लिक टॉयलेट है सबसे पास

नई दिल्ली। आप रास्ते में कहीं जा रहे हैं और अचानक टॉयलेट लगे या पेट खराब हो जाए, तो क्या करेंगे। जाहिर है स्थानीय लोगों से सार्वजनिक शौचालय के बारे में पूछेंगे। इसके अलावा कोई विकल्प भी नहीं होता है। मगर, अब आपको आसानी से पता चल जाएगा कि आप जहां हैं, वहां से सबसे पास कौन सा शौचालय है।
दिल्ली-एनसीआर में के लोगों के लिए गूगल मैप्स में निकटतम शौचालय की खोज की जा सकती है। अपनी तरह की पहली ऐसी पहल में नई दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) और गूगल ने मिलकर रेलवे स्टेशन्स, पेट्रोल पंप्स, सुलभ शौचालय के 5000 से अधिक सार्वजनिक शौचालयों को जियोटैग किया गया है।
इसलिए, अब से गूगल मैप्स में कोई भी यूजर नई दिल्ली, गुड़गांव, नोएडा, गाजियाबाद और फरीदाबाद के भीतर कहीं भी निकटतम शौचालय का पता लगा सकता है। इस पहल को बढ़ावा देने के लिए एनडीएमसी ने ‘टॉयलेट लोकेटर अवेयरनेस मिशन’ लॉन्च किया है।
यह प्रतियोगिता 12 जुलाई से 11 अगस्त तक चलेगी और सबसे स्वच्छ शौचालय का पुरस्कृत किया जाएगा। एनडीएमसी सीधे तौर पर 333 शौचालयों की निगरानी करता है और इसे गूगल मैप्स द्वारा जियोटैग किया गया है। सर्च के ऑप्शन में यह उपलब्ध है। प्रधानमंत्री मोदी के स्वच्छ भारत मिशन के तहत इसे एक प्रमुख अभियान के रूप में देखा जाता है।
एनडीएमसी ने लॉन्च किए स्मार्ट टॉयलेट्स
इस बीच एनडीएमसी ने अपना नया ऐप एनडीएमसी 311 लॉन्च किया है। इसके जरिये यूजर्स विभिन्न नागरिक सेवाओं के बारे में जान सकते हैं और सबसे पास के ‘स्मार्ट टॉयलेट’ का पता लगा सकते हैं।
एनडीएमसी अध्यक्ष नरेश कुमार के मुताबिक, ऐसे स्मार्ट शौचालयों में एटीएम, रूफटॉप सौर पैनल्स, सैनिटरी नैपकिन वेंडिंग मशीन के साथ ही कई अन्य सुविधाएं मिल सकेंगी। दिल्ली-एनसीआर में एनडीएमसी द्वारा ऐसे 109 स्मार्ट टॉयलेट का निर्माण किया गया है। एक तरह से एनडीएमसी यात्रियों और आम जनता के लिए शौचालयों को रिसोर्स हब में बदलने की कोशिश कर रहा है।
AD
Show More
AD

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button