जरा हट के

बचपन में जला था हाथ और अब ले चुका है पेड़ जैसा आकार

ढाका। इंसान को हल्की चोट लग जाती है तो वह दर्द से कराह उठता है। लेकिन जरा सोचिए उसकी क्या हालत होगी जिसके शरीर का एक हिस्सा लकड़ी की तरह सख्त हो गया हो। बांग्लादेश के सतखीरा जिले की 12 वर्षीय लड़की मुक्ता में ‘ट्री-मैन सिंड्रोम’ मिला है। इस बीमारी से ग्रस्त शख्स की चमड़ी पेड़ के तने जैसी सख्त और खुरदुरी हो जाती है।
कांच के बर्तन की दुकान चलाने वाले मुक्ता के पिता इब्राहिम हुसैन ने बताया कि करीब 3 साल पहले मुक्ता के दाएं हाथ का एक हिस्सा जल गया था और इसका रिएक्शन पूरे हाथ में फैल गया। इसकी वजह से उसके पूरे हाथ में सुजन आ गई और कुछ दिनों बाद ही उसका हाथ पेड़ जैसा सख्त हो गया। फिर धीरे-धीरे ये समस्या पूरे शरीर में फैलनी शुरू हो गई। पिता इब्राहिम के अनुसार, बीते 9 सालों में मुक्ता का कई स्थानों पर इलाज कराया गया, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। इसलिए अब मुक्ता को इलाज के लिए ढाका के मेडिकल कॉलेज स्थित बर्न एंड प्लास्टिक यूनिट लाए हैं। मुझे लोगों की दुआओं की जरूरत है ताकि मेरी बेटी ठीक हो जाए। मेडिकल कॉलेज के बर्न और प्लास्टिक यूनिट के प्रमुख डॉ. सामंतालाल सेन ने बताया कि फिलहाल मुक्ता की बीमारी के बारे में स्पष्ट तौर पर कुछ भी कहना मुश्किल है, लेकिन इतना कह सकते हैं कि मुक्ता को चमड़ी संबंधी बीमारी है। फिलहाल ऑपरेशन के लिए उसकी शारीरिक हालत ठीक नहीं है। 7 से 10 दिनों की देखरेख के बाद मुक्ता के ऑपरेशन के बारे में फैसला हो पाएगा।
आपको बता दें कि मुक्ता को मंगलवार को ढाका मेडिकल कॉलेज के बर्न व प्लास्टिक यूनिट में भर्ती कराया गया है। उसके इलाज के लिए 8 सदस्यीय मेडिकल बोर्ड बनाया गया है।बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ‘ट्री-मैन सिंड्रोम’ से पीड़ित लड़की मुक्ता के पूरे इलाज का खर्च उठा रही हैं।

AD

AD
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button