मध्यप्रदेश

सोशल मीडिया पर वायरल PWD विभाग का यह आदेश है फर्जी पुलिस जांच करेगी

सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे पदनाम परिवर्तन के आदेश को मध्य प्रदेश के लोक निर्माण विभाग ने पकड़ा है।

Advertisements

भोपाल । सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे पदनाम परिवर्तन के आदेश को मध्य प्रदेश के लोक निर्माण विभाग ने पकड़ा है। विभाग ने इस आदेश को पूरी तरह से फेक और फर्जी बताया है ।वही इस संबंध में भोपाल पुलिस को जांच के निर्देश दिए है, ताकी इसके पीछे छिपे शरारती तत्वों को पता लगाया जा सके।

दरअसल, सोशल मीडिया में लोक निर्माण विभाग (PWD Department के अंतर्गत कार्यरत 20 वर्ष या उससे अधिक सेवा पूर्ण कर चुके अनुरेखक और सहायक मानचित्रकार और मानचित्रकार पदों पर कार्यरत ऐसे कर्मचारी, जिनके द्वारा मध्य प्रदेश के विश्वविद्यालय (MP College) से इंजीनियरिंग में डिप्लोमा किया गया है तथा 3200 रुपये या उससे अधिक ग्रेड-पे प्राप्त कर रहे हैं, उनका पदनाम उपयंत्री घोषित कर दिया गया है। इस आशय का आदेश पूर्णत: फर्जी है।

यह भी पढ़ें-  MP में निकाय चुनाव की तैयारी में जुटी शिवराज सरकार, बदलेंगे कई नियम

प्रमुख सचिव लोक निर्माण विभाग (PWD) नीरज मण्डलोई ने बताया कि कुछ शरारती तत्वों द्वारा उक्त आशय का विभागीय आदेश वायरल किया गया है। इस पर उनके द्वारा संज्ञान लेते हुए लोक निर्माण विभाग के अंतर्गत आने वाले सभी अधीनस्थ कार्यालयों को वस्तु-स्थिति से अवगत करा दिया गया है। सभी को निर्देशित किया गया है कि किसी व्यक्ति द्वारा इस आदेश के क्रम में कोई आवेदन प्रस्तुत किया जाता है, तो उसकी जानकारी तुरंत विभाग को उपलब्ध कराई जाये।इसके साथ ही पुलिस अधीक्षक, भोपाल को प्रकरण की जाँच कर संबंधितों के विरुद्ध कार्यवाही के लिये लिखा गया है।

यह भी पढ़ें-  लोकसभा एवं विधानसभा उपचुनाव हेतु भाजपा ने दायित्व सौंपे
Show More
Back to top button