Corona newsहाेम

इस मामले में अव्वल जबलपुर की सीएम शिवराज ने की तारीफ

टीकाकरण अभियान चल रहा है. अब खबर आई है कि जबलपुर की 19 ग्राम पंचायतों में 100% वैक्सिनेशन हो चुका है.

Advertisements

भोपाल। कोरोना महामारी के खिलाफ प्रदेश में बड़े पैमाने पर टीकाकरण अभियान चल रहा है. अब खबर आई है कि जबलपुर की 19 ग्राम पंचायतों में 100% वैक्सिनेशन हो चुका है. शत-प्रतिशत टीकाकरण कराने वाली ग्राम पंचायतों की संख्या के मामले में जबलपुर प्रदेश में पहले नंबर पर है.

इन ग्राम पंचायतों में हुआ सौ फीसदी टीकाकरण
जबलपुर की जिन ग्राम पंचायतों में 100 फीसदी टीकाकरण हो चुका है, उनमें विकासखंड पनागर की ग्राम पंचायत महगवां, परियट, कालाडूमर, उमरिया, चौबे, कंदराखेड़ा और बरौंदा शामिल हैं. वहीं विकासखंड जबलपुर की ग्राम पंचायत सिलुआ पड़रिया, महगवां हैं. बरेला विकासखंड शहपुरा की ग्राम पंचायत सिहोदा और विकासखंड कुंडम की ग्राम पंचायत कल्याणपुर, खुख्खम, इमलई और विकासखंड मझौली की ग्राम पंचायत सगोड़ी, खबरा, रानीताल और पहरूआ में भी सौ फीसदी वैक्सीनेशन हो चुका है.

यह भी पढ़ें-  शिक्षा मित्रों का मानदेय बढ़ा सकती है योगी सरकार, दो से चार हजार रुपये की होगी बढ़त

सीएम शिवराज ने भी इन ग्राम पंचायतों में पूरी तरह से टीकाकरण होने की तारीफ की है. उन्होंने कहा कि जबलपुर की ग्राम पंचायतों ने प्रदेश की अन्य ग्राम पंचायतों के लिए मिसाल पेश की है. वहीं इस टीकाकरण अभियान से खुश होकर पनागर के विधायक सुशील तिवारी इंदू ने अपने इलाके की तीन ग्राम पंचायतों महगवां परियट, कालाडूमर और उमरिया चौबे को धायक निधि से विकास कार्यों के लिए 5-5 लाख रुपए दिए.

गौरतलब है कि जहां एमपी की ग्राम पंचायतें टीकाकरण के मामले में रिकॉर्ड बना रही हैं. वहीं प्रदेश भी इस मामले में आगे है. सोमवार को एमपी में 16 लाख 95 हजार लोगों को वैक्सीन लगाई गई. जो कि देश में सबसे ज्यादा है. सीएम शिवराज ने दावा किया कि अगर पीएम मोदी के नेतृत्व में इसी तरह वैक्सीन की सप्लाई होती रही तो एमपी में अक्टूबर तक टीकाकरण का काम पूरा हो जाएगा.

एमपी में टीकाकरण में तेजी का कारण जनसहभागिता है. समाज के बीच के ही लोग अन्य लोगों को वैक्सीन लेने के लिए प्रेरित कर रहे हैं. अधिकारी, विधायक, सांसद और मंत्री समेत सीएम शिवराज भी लोगों को वैक्सीन के प्रति जागरुक कर रहे हैं. इसी का नतीजा है कि एमपी में टीकाकरण अभियान तेज गति से चल रहा है. बता दें कि अक्टूबर में कोरोना की तीसरी लहर के आने की आशंका जाहिर की जा रही है. ऐसे में एमपी सरकार की कोशिश है कि तब तक प्रदेश की अधिकतर जनता का टीकाकरण कर दिया जाए.

Show More
Back to top button