HOME

अंतरात्‍मा की आवाज’ पर दिया त्यागपत्र-नितीश: जानिये 45 मिनट में क्या क्या हुआ


पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। बीते कई महीनों से महागठबंधन में चल रहे विवाद के बीच नीतीश ने राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी को अपना इस्तीफा सौंप दिया। इसके साथ ही बिहार की 20 महीने पुरानी महागठबंधन की सरकार गिर गई। महागठबंधन में नीतीश की पार्टी जनता दल (युनाइटेड) के अलावा राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कांग्रेस शामिल थीं। इस्‍तीफा देने के बाद नीतीश ने कहा कि उन्‍होंने ‘अंतरात्‍मा की आवाज’ पर त्‍यागपत्र दिया है। उन्‍होंने कहा, ”इस माहौल में महागठबंधन का नेतृत्व करना संभव नहीं रह गया था। मैंने भरसक गठबंधन धर्म का पालन किया।” राजद अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद के बेटे और उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की छापेमारी के बाद उनके इस्तीफे की मांग उठी थी, जिसे लेकर महागठबंधन में दरारें पैदा हो गई थीं। तेजस्वी ने इस्तीफा देने से मना कर दिया था, जिससे यह दरार चौड़ी होती गई और अंतत: नीतीश ने इस्तीफा दे दिया।

7.15 PM: देश के, विशेष रूप से बिहार के उज्जवल भविष्य के लिए राजनीतिक मतभेदों से ऊपर उठकर भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ एक होकर लड़ना,आज देश और समय की माँग है। : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
7.12 PM: भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ लड़ाई में जुड़ने के लिए नीतीश कुमार जी को बहुत-बहुत बधाई। सवा सौ करोड़ नागरिक ईमानदारी का स्वागत और समर्थन कर रहे हैं। : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
7.10 PM: भाजपा नेता व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा, ”ये सुविधा का गठबंधन था।”
7.05 PM: मैं किसी को कोई दोष नहीं दे रहा हूं। सरकार चलाने के दौरान कई कठिनाइयों को झेला, लेकिन अब पूरा परिदृश्य बदल गया है। बिहार के हित में जो कुछ भी होगा करूंगा। : नीतीश कुमार
7.03 PM: मुझे वैकल्पिक व्यवस्था तक पद संभालने को कहा है। मुझे ये प्रतीत हो गया कि इस माहौल में आगे काम करना संभव नहीं है। बिहार के प्रति मेरा कमिटमेंट है, बिहार के विकास के प्रति मेरा कमिटमेंट है, लेकिन आज के माहौल में मेरे लिए काम करना संभव नहीं रह गया था। लालू और आरजेडी की ओर से सारी बातें सतही हो रही थी। लोकतंत्र लोकलाज से चलता है। : नीतीश कुमार
7.02 PM: राष्ट्रपति चुनाव के दौरान भी मेरे ऊपर आरोप लगे। अब कोई भी काम कर रहा था, इसी मुद्दे पर चर्चा हो रही थी। चर्चा हो रही थी तेजस्वी को हटाएंगे, लेकिन मैं इस तरह की राजनीति नहीं करता हूं। राज्यपाल महोदय ने मेरे इस्तीफा को स्वीकार कर लिया है। : नीतीश कुमार
7.00 PM: कफन में जेब नही होता है। धन संपत्ति अर्जित करने की प्रवृति गलत। नोटबंदी का सवाल हो या राष्ट्रपति चुनाव क्या हम अपनी राय प्रकट नहीं करते? : नीतीश कुमार
6.58 PM: नोटबंदी का समर्थन करने की वजह से मेरे ऊपर कई आरोप लगे। जनहित में मैंने नोटबंदी का समर्थन किया। : नीतीश कुमार
6.57 PM: ये कोई संकट नहीं है, ये अपने आप लाया गया संकट था। अगर वो सफाई देते तो हमलोगों को भी आधार मिलता। : नीतीश कुमार
6.56 PM: अंतरात्मा की आवाज पर फैसला किया। लालू जी के साथ मेरी कोई संवादहीनता नहीं थी। : नीतीश कुमार
6.54 PM: मैंने कभी किसी का इस्तीफा नहीं मांगा था, सिर्फ आरोपों पर सफाई मांगी थी। तेजस्वी पर आरोपों से गलत धारणा बन रही थी। : नीतीश कुमार
6.53 PM: इस माहौल में महागठबंधन का नेतृत्व करना संभव नहीं रह गया था। : नीतीश कुमार
6.53 PM: शराबबंदी का फैसला कर बिहार में सामाजिक परिवर्तन की शुरूआत की है। मैंने जनता के हित में काम किया। : नीतीश कुमार
6.52 PM: मैंने भरसक गठबंधन धर्म का पालन किया। मैंने राज्यपाल को इस्तीफा सौंप दिया है। : नीतीश कुमार
6.51 PM: नीतीश कुमार ने इस्‍तीफा देने के बाद कहा कि 20 महीने तक उन्‍होंने गठबंधन चलाया है।
6.50 PM: पटना में बीजेपी विधायक दल की बैठक जारी है।
6.40 PM: नीतीश कुमार ने मुख्‍यमंत्री पद से इस्‍तीफा दिया।
6.30 PM: बिहार सीएम नीतीश कुमार राज्‍यपाल से मिलने पहुंचे।

यह भी पढ़ें-  PM Kisan Yojana Updates खुशखबरी! 11वीं किस्त को लेकर आया ये अपडेट, जानें किन लोगों को मिलेगा फायदा?
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button