राष्ट्रीयहाेम

CBSE का फैसला: थ्योरी 60 अंकों व प्रैक्टिकल-प्रोजेक्ट के लिए 40 अंक होंगे

कौशल विषयों के लिए अंक वितरण किया है। अब इस कक्षा के कौशल विषयों में थ्योरी 60 अंकों व प्रैक्टिकल-प्रोजेक्ट के लिए 40 अंक होंगे

Advertisements

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने ग्यारहवीं कक्षा के सभी कौशल विषयों के लिए अंक वितरण किया है। अब इस कक्षा के कौशल विषयों में थ्योरी 60 अंकों व प्रैक्टिकल-प्रोजेक्ट के लिए 40 अंक होंगे। ग्यारहवीं कक्षा के लिए यह नियम वर्तमान सत्र 2021-22 से ही लागू होगा। वर्तमान सत्र से बारहवीं के अंक वितरण में किसी तरह का बदलाव नहीं किया गया है। बारहवीं में अंक वितरण के यह बदलाव शैक्षणिक सत्र 2022-23 से लागू होंगे।

सीबीएसई से सीनियर सैकेंडरी स्तर पर 38 स्किल विषयों को ऑफर करता है। बोर्ड ने कौशल विषयों के अंकों के वितरण में एकरुपता पैदा करने के लिए अंकों के वितरण का फैसला लिया है। इस तरह से थ्योरी के लिए 60 अंक होंगे (जिसमें रोजगार कौशल के लिए 10 अंक) व प्रैक्टिकल और प्रोजेक्ट के लिए 40 अंक होंगे।

यह भी पढ़ें-  मध्य प्रदेश में सक्रिय हुआ मानसून, कई जिलों में बारिश शुरू

बारहवीं कक्षा के लिए संशोधित अंक वितरण सत्र 2022-2023 से प्रभावी होगा। इसके साथ ही बोर्ड ने फैसला लिया है कि जो स्कूल ग्यारहवीं कक्षा में इस सत्र से कोई नया कौशल विषय शुरू करना चाहेंगे, उनसे इसके लिए कोई फीस नहीं ली जाएगी। बोर्ड के संशोधित संबद्धता उपनियमों के अनुसार स्कूल को भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान को छोड़कर किसी भी अतिरिक्त कौशल विषयों को शुरू करने के लिए अलग से आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है। स्कूल को इन विषयों को ओएसिस फॉर्म में विवरण भरना होगा।

जिन स्कूलों ने शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए ग्यारहवीं कक्षा में कौशल विषय शुरू किए हैं। बोर्ड ने ऐसे स्कूलों से इन विषयों को पढ़ाने वाले शिक्षकों के संबंध में जानकारी देने को कहा है। बोर्ड द्वारा इस जानकारी का उपयोग इन शिक्षकों के परामर्श-संचालन और प्रशिक्षण के लिए किया जाएगा।

यह भी पढ़ें-  बड़ा फैसला: 31 जुलाई तक सभी बोर्ड मूल्यांकन नीति के आधार पर जारी करें परिणाम, सुप्रीम कोर्ट ने दिए आदेश
Show More
Back to top button