प्रदेशराष्ट्रीय

AIR INDIA और डॉमिनोज का सर्वर हैक, डार्क वेब पर बिक रही डॉमिनोज के 18 करोड़ ऑर्डर्स की जानकारी

एयर इंडिया और डॉमिनोज का सर्वर हैक, डार्क वेब पर बिक रही डॉमिनोज के 18 करोड़ ऑर्डर्स की जानकारी

Advertisements

पिज्जा कंपनी डोमिनोज और एयरलाइन कंपनी एयर इंडिया के सर्वर में सेंध लगाकर हैकरों ने करोड़ों भारतीय ग्राहकों का डेटा चोरी कर लिया है। इन ग्राहकों के फोन नंबर, कार्ड डिटेल्स और ईमेल आईडी से जुड़ी जानकारियां डार्क वेब पर बिक रही हैं। सिक्योरिटी एक्सपर्ट की मानें तो अब तक करीबन 18 करोड़ ऑर्डर का डेटा डॉर्क वेब पर अपलोड हो चुका है और जो व्यक्ति चाहे वो इसे खरीद सकता है।

करोड़ों भारतीयों से जुड़ा यह डेटा डार्क नेट पर सर्च और एक्सेस किया जा सकता है। हैकर्स ने पिछले महीने डोमिनोज इंडिया के डेटाबेस में तगड़ी सेंधमारी की थी। इसमें हैकरों ने डेटाबेस से फोन नंबर, नाम और क्रेडिट कार्ड की डिटेल्स जैसी जानकारियां चुरा ली थी।

यह भी पढ़ें-  जम्मू-कश्मीर पर पीएम मोदी की अहम बैठक से पहले पाकिस्तान में हलचल बढ़ी, इमरान खान ने उठाया यह कदम

जासूसी में हो सकता है इस्तेमाल

हडसन रॉक नाम की सिक्योरिटी फर्म से जुड़े एलन गल ने इस हैकिंग की पुष्टि करते हुए बताया कि ये डाटा 10 बिटकॉइन में बिक चुका है। आपको बता दें कि 10 बिटकॉइन की मौजूदा कीमत 4.5 करोड़ रुपये है। स्वतंत्र साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर राजशेखर राजागढ़िया ने भी ट्वीट करके बताया कि डोमिनोज इंडिया पर दिए गए 18 करोड़ ऑर्डर का डेटा लीक हो चुका है। डोमिनोज पर ऑर्डर करने वाले लोगों का नाम, ईमेल, मोबाइल नंबर और जीपीएस लोकेशन से जुड़ी जानकारी पब्लिक प्लेटफॉर्म पर आ चुकी है। इस डेटा का इस्तेमाल जासूसी के लिए किया जा सकता है।

 

एयर इंडिया के 45 लाख यात्रियों का डेटा चोरी

एयर इंडिया ने भी अपने 45 लाख यात्रियों का महत्वपूर्ण डेटा चोरी होने की बात कही है। कंपनी ने कहा है कि उसके सीटा-पीएसएस सर्वर में सेंध लगाकर हैकरों ने यह डेटा चोरी किया है। 26 अगस्त 2011 से 3 फरवरी 2021 के बीच टिकट बुक करने वाले यात्रियों की जन्मतिथि, उनके कॉन्टैक्ट डीटेल्स, नाम, पासपोर्ट और टिकट के अलावा स्टार एलाएंस और एयर इंडिया फ्रीक्वेंट फ्लायर डेटा और क्रेडिट कार्ड डेटा चोरी हुआ है। एयर इंडिया के जिस SITA PSS सर्वर में सेंध लगी है। उसमें उड़ान भरने वालों की व्यक्तिगत जानकारी स्टोर और प्रोसेस की जाती थी।

यह भी पढ़ें-  बड़ा फैसला: 31 जुलाई तक सभी बोर्ड मूल्यांकन नीति के आधार पर जारी करें परिणाम, सुप्रीम कोर्ट ने दिए आदेश
Show More
Back to top button