राष्ट्रीयहाेम

अलर्ट: रात 12 बजे से 14 घंटों के लिए नहीं मिलेगी पैसों के लेनदेन से जुड़ी यह सुविधा, जल्द निपटाएं काम

केंद्रीय बैंक ने कहा है कि टेक्निकल अपग्रेड के चलते कुछ घंटों के लिए ग्राहकों के लिए नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर (NEFT) की सुविधा उपलब्ध नहीं होगी

Advertisements

देश में डिजिटल बैंकिंग को बढ़ावा देने के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने कई कदम उठाए हैं। इस बीच डिजिटल लेनदेन करने वालों के लिए आरबीआई ने एक सूचना जारी की है। केंद्रीय बैंक ने कहा है कि टेक्निकल अपग्रेड के चलते कुछ घंटों के लिए ग्राहकों के लिए नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर (NEFT) की सुविधा उपलब्ध नहीं होगी। यह अपग्रेडेशन 22 मई 2021 को कारोबार बंद होने के बाद होगा। इसकी वजह से 22 मई खत्म होने के बाद रात 12 बजे से लेकर 23 मई को दोपहर दो बजे तक यह सुविधा उपलब्ध नहीं होगी।

यह भी पढ़ें-  Twitter इंडिया के MD को बड़ी राहत, कोर्ट ने कहा- थाने जाने की जरुरत नहीं, ऑनलाइन पूछताछ करे UP पुलिस

एनईएफटी सर्विस का परफॉरमेंस और रिजीलिएंस को बेहतर बनाने के लिए ऐसा किया जा रहा है। इसलिए अगर आपको एनईएफटी के जरिए पैसों का लेनदेन करना है, तो देर न करें।

निशुल्क है एनईएफटी की सुविधा
छह जून 2019 को आरबीआई ने आम जनता को बड़ा तोहफा देते हुए रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट (आरटीजीएस) व एनईएफटी को निशुल्क कर दिया था। आरबीआई ने देश भर में डिजिटल बैंकिंग को बढ़ावा देने के लिए यह कदम उठाया था। मालूम हो कि सभी बैंकों में यह सुविधा 24 घंटे उपलब्ध है। इससे पहले एनईएफटी सुविधा सुबह आठ बजे से शाम सात बजे तक थी। महीने के पहले और तीसरे शनिवार को इसका वक्त सुबह आठ बजे से दोपहर एक बजे तक रहता था।

क्या है NEFT?
NEFT का मतलब है नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर। इंटरनेट के जरिए दो लाख रुपये तक के लेन-देन के लिए एनईएफटी का इस्तेमाल किया जाता है। इसके जरिए किसी भी शाखा के किसी भी बैंक खाते से किसी भी शाखा के बैंक खाते को पैसा भेजा जा सकता है। बस इकलौती शर्त ये है कि भेजने वाले और पैसा पाने वाले, दोनों के पास इंटरनेट बैंकिंग सेवा का होना जरूरी है। अगर दोनों खाते एक ही बैंक के हैं तो सामान्य स्थिति में कुछ सेकेंड्स के अंदर पैसा ट्रांसफर हो सकता है।

 

यह भी पढ़ें-  बड़ा फैसला: 31 जुलाई तक सभी बोर्ड मूल्यांकन नीति के आधार पर जारी करें परिणाम, सुप्रीम कोर्ट ने दिए आदेश
Show More
Back to top button