HOME

नतीजे आने में फंसा पेंच, चुनाव आयोग ने देखा अमित शाह को मतपत्र दिखाने वाला वीडियो

अहमदाबाद।कांग्रेस ने शिकायत की है कि उसके दो विधायकों ने अपना वोट भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष अमित शाह को दिखाया। अब यह बात चुनाव आयोग वोटिंग का वीडियो देखकर पुख्ता करेगा। अगर सच में ऐसा हुआ होगा तो कांग्रेस के दोनों विधायकों का वोट कैंसल हो जाएगा। जिन दो विधायकों ने कहकर बीजेपी को वोट दिया उनका नाम भोलाभाई और राघवजी भाई है। दोनों ने सार्वजनिक रूप से बीजेपी के उम्मीदवार बलवंत राजपूत को वोट देने की बात कबूली है। कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला और आरपीएन सिंह चुनाव आयोग के पास शिकायत लेकर पहुंचे थे। गुजरात विधान सभा में कुल 182 विधायक हैं। जिनमें से 176 ने वोट दिया।
बलवंत राजपूत पहले कांग्रेस में हुआ करते थे। राज्य सभा चुनाव से कुछ वक्त पहले ही उन्होंने बीजेपी ज्वॉइन की। बीजेपी में शामिल होते ही उनको राज्य सभा सांसद का उम्मीदवार बना दिया गया। बीजेपी की तरफ से अमित शाह और स्मृति ईरानी भी मैदान में हैं। तीसरी सीट पर अहमद पटेल और बलवंत का मुकाबला है।

अहमद पटेल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के खास माने जाते हैं। अहमद पटेल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के राजनीतिक सचिव हैं। वो 1993 से राज्य सभा सांसद हैं।  मीडिया रिपोर्ट में अभी से दावा होने लगा है कि अगर अहमद पटेल हारे तो ये कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की हार होगी। वो एकमात्र कांग्रेसी हैं जिसके पास सोनिया के आधिकारिक आवास 10 जनपथ में एक निजी कार्यालय है। कांग्रेस 2004 से 2014 तक लगातार 10 सालों तक सत्ता में रही लेकिन अहमद पटेल ने कोई पद नहीं लिया जबकि गांधी परिवार में उनका रसूख जगजाहिर है। पटेल को मीडिया की सुर्खियों में रहना पसंद नहीं है। वो चर्चा में आने से बचते हैं। राजनीतिक जानकारों की मानें तो उन्हें बड़बोलापन पसंद नहीं। वो कांग्रेस में चाहे जितने भी ताकतवर हों सार्वजनिक तौर पर सभी से बहुत विनम्रता से पेश आते हैं।

यह भी पढ़ें-  Budget With Sweets 2022: बजट से पहले इस बार हलवा की जगह मिठाई, पहली फरवरी को पेपरलेस बजट पेश करेंगी वित्त मंत्री
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button