क्‍या आप बच्‍चे की फीस चेक से भरते है तो हो जाइए सावधान

Advertisements
ग्वालियर। मूंगफली व चना कारोबारी के खाते में चेक लगाकर किसी ने 8 लाख 77 हजार रुपए निकाल लिए हैं। घटना 11 जुलाई दोपहर 2 बजे यूको बैंक की फ्रूट मंडी शाखा की है। जब व्यापारी को इसका पता लगा तो वह बैंक पहुंचे। जिस चेक को लगाकर अकाउंट से रकम निकाली गई है, उसका वही नंबर है जो व्यापारी ने कुछ दिन पहले बेटे की कोचिंग की फीस भरने के लिए फिटजी इंस्‍टीट्यूट को दिया था। घटना की शिकायत व्यापारी ने जनकगंज थाने में की है। चेक का डुप्लीकेट चेक बनाकर खाते से रकम निकालने की शिकायत की गई है। पुलिस ने व्यापारी की शिकायत पर धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है।
जनकगंज थानाक्षेत्र स्थित जीवाजीगंज निवासी अच्छेलाल गुप्ता का मूंगफली व चना का कारोबार है। फ्रूट मंडी यूको बैंक में उनका खाता है। उनका बेटा अर्जुन गुप्ता (13) आठवीं का छात्र है। जिसे वह जेईईई की तैयारी करा रहे हैं। बेटा अभी फिटजी इंस्टीट्यूट में कोचिंग कर रहा है। उसकी 85 हजार रुपए फीस भरनी थी। जिसके लिए उन्होंने 7 चेक साइन कर पोस्ट डेट के संस्थान में जाम कराए थे। 6 चेक का पैसा संस्थान ने कैश भी करा लिया था।
सातवां चेक वापस किया, उसी का बना डुप्लीकेट
बेटे की कोचिंग में पहले 6 चेक का भुगतान तो आसानी से हो गया। सातवां चेक 25 जुलाई का था। जिसमें 17250 रुपए की राशि भरी थी। व्यापारी ने बताया कि यह चेक कोचिंग संस्थान ने उन्हें क्लीयर न होने पर वापस कर दिया। जिस पर बैंक ने ‘रेफर टू ड्रॉ’ लिखा था। इसके बाद उन्होंने चेक वापस लेकर फीस नकद भर दी। जब उन्हें उन्होंने अकाउंट के बारे में पता किया और चेक वापस आने की बात के संबंध में यूको बैंक पहुंचकर पूछताछ की तो पता लगा कि इसी नंबर के चेक से 11 जुलाई को दोपहर दो बजे 8.77 लाख रुपए निकाले गए हैं। जिसके बाद व्यापारी को धोखाधड़ी और खाते से रुपए निकालने का पता लगा। व्यापारी ने चेक का डुप्लीकेट चेक बनाकर धोखाधड़ी की शिकायत की है।
बैंक की भूमिका संदिग्ध
व्यापारी के अनुसार उन्होंने इस नंबर का चेक संस्थान में दिया। उन्होंने चेक क्लीयर न होने पर वापस किया। पर उसी चेक नंबर से मोटी रकम मेरे खाते से कैसे निकल गई। इतनी बड़ी रकम बैंक ने मुझसे पूछे बिना कैसे दे दी। मुझे कॉल क्यों नहीं किया। मेरे साइन नहीं मिलाए।व्यापारी ने जनकगंज थाने में शिकायत करते हुए कोचिंग संस्थान के स्टाफ से लेकर बैंक स्टाफ तक की भूमिका को संदिग्ध बताकर जांच की मांग की है। पुलिस ने अभी आरोपियों को अज्ञात मानकर जांच शुरू कर दी है।
फुटेज मिलने से होगा खुलासा
व्यापारी व जनकगंज थाना पुलिस ने फ्रूट मंडी यूको बैंक प्रबंधन से 11 जुलाई दोपहर 2 बजे कौन चेक कैश कराने आया था। उस समय की बैंक के अंदर लगे कैमरों की फुटेज मांगी है। जिससे साफ हो सके कि कौन इस धोखाधड़ी में मिला हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Notifications    OK No thanks