राष्ट्रीय

भाेपाल मेमारियल अस्पताल में काेविड मरीज से हुआ था दुष्कर्म

अस्पताल प्रबंधन ने दुष्कर्म के मामले काे छिपाने की काेशिश की। साथ ही पुलिस ने भी अस्पताल में हुए दुष्कर्म के मामले पर एक माह तक चुप्पी साध रखी थी।

Advertisements

भाेपाल।भाेपाल मेमाेरियल ट्रस्ट अस्पताल ( बीएमएचआरसी) में एक माह पहले भर्ती काेराेना संक्रमित मरीज के साथ अस्पताल के कर्मचारी ने दुष्कर्म किया था। घटना के बाद महिला काेमा में चली गई थी। अगले दिन उसकी मौत हाे गई थी।

उधर इस घटना के आधा घंटे पहले उसी कर्मचारी ने दूसरे वार्ड में भर्ती अस्तपताल की काेराेना संक्रमित कर्मचारी के साथ अश्लील हरकत भी की थी। महिला के शाेर मचाने पर आराेपित भाग गया था। पुलिस ने उसे अगले दिन गिरफ्तार कर लिया था।

अस्पताल प्रबंधन ने दुष्कर्म के मामले काे छिपाने की काेशिश की। साथ ही पुलिस ने भी अस्पताल में हुए दुष्कर्म के मामले पर एक माह तक चुप्पी साध रखी थी। इस मामले में बुधवारकाे गैस पीडि़त संगठन की नेता ने सुप्रीम काेर्ट द्वारा गठित कमेटी काे पत्र लिखकर दाेषियाें के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

राजधानी की एक 46 वर्षीय महिला अप्रैल माह के पहले सप्ताह में काेराेना के इलाज के लिए भाेपाल मेमाेरियल ट्रस्ट अस्पताल में भर्ती हुई थी। उसी समय अस्पताल की लैब में काम करने वाली 24 वर्षीय युवती काे भी संक्रमित हाेने के कारण काेविड वार्ड में भर्ती कराया गया था। एएसआइ बनवारीलाल ने बताया कि पांच-छह अप्रैल की दर दरमियानी रात करीब तीन बजे अस्पताल का कर्मचारी संताेष महिला के पास पहुंचा था।

वह उसे जांच के बहाने से सहारा देकर टाॅयलेट तक लेकर गया था। वहां से वापस लेकर आने के बाद महिला के पलंग पर उसने महिला से दुष्कर्म किया। महिला ने घटना के बारे में वार्ड में मौजूद अटेंडर काे बताया था।

इस घटना के लगभग आधा घंटे बाद संताेष पास के वार्ड में भर्ती अस्पताल की कर्मचारी युवती के पास पहुंचा। साे रही युवती काे उसने स्पर्श किया, ताे उसकी नींद खुल गई।

उसने संताेष से वहां आने की वजह पूछी ताे वह चेकअप करने के लिए आने का कहकर भाग गया था। युवती ने घटना के बारे में अपनी सहेली काे बताया। इसके बाद फाेन पर पुलिस कंट्राेल रूम में घटना की शिकायत की थी। फाेन पर जानकारी मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंच गई थी। सात अप्रैल काे आराेपित संताेष अहिरवार काे गिरफ्तार कर लिया गया था।

उधर अस्पताल प्रबंधन से दुष्कर्म की घटना के बारे में पता चलने पर पुलिस पीडि़त महिला के बयान लेने अस्पताल पहुंची थी, ताे पता चला कि छह अप्रैल की सुबह हालत खराब हाेने के कारण उसे वेंटीलेटर पर रखा गया है। शाम काे महिला की मौत हाे गई थी।

यह भी पढ़ें-  CBSE और ICSE की 12वीं की मूल्यांकन स्कीम सही: सुप्रीम कोर्ट
Show More
Back to top button