हाेम

गंगा से अब तक मिले 83 शव, यूपी की सीमा पर लगाए गए महाजाल, घाटों पर पुलिस का पहरा, ड्रोन से रखी जा रही नजर

नदी में अबतक 83 शवों के एक साथ मिलने के बाद सनसनी फैलती जा रही है। पुलिसिया कार्रवाई भी शुरू करते हुए इस मामले में अस्वाभाविक मौत की एक एफआईआर दर्ज कर ली गई है।

Advertisements

उतर प्रदेश के सीमाई क्षेत्र से सटे बक्सर जिले के चौसा में गंगा से शवों की बरामदगी का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। नदी में अबतक 83 शवों के एक साथ मिलने के बाद सनसनी फैलती जा रही है। पुलिसिया कार्रवाई भी शुरू करते हुए इस मामले में अस्वाभाविक मौत की एक एफआईआर दर्ज कर ली गई है। वहीं यूपी की सीमा पर महाजाल लगा दिया गया है। प्रशासनिक सूत्रों के मुताबिक 8 से 10 लाशों को महाजाल के जरिए निकाला गया है।

यह भी पढ़ें-  लोकसभा एवं विधानसभा उपचुनाव हेतु भाजपा ने दायित्व सौंपे

एसपी नीरज कुमार सिंह ने बताया कि इस मामले में अस्वाभाविक मौत की प्राथमिकी मुफस्सिल थाने में दर्ज कर कर जांच शुरू कर दी गई है। एसपी ने कहा कि बक्सर जिले के सभी पुलिस थानों को यह आदेश दे दिया गया है कि शवों की बरामदगी मामले में सभी कानूनी प्रक्रिया अपनाई जाए। गंगा से अज्ञात शव बरामद किए जाने के बाद भी उसका पोस्टमार्टम कराना होगा। वहीं मोटर वोट से पेट्र्रोंलग करनी है। वहीं जिला प्रशासन का भी पूरा प्रशासनिक अमला अलर्ट है।

यह भी पढ़ें-  MP में निकाय चुनाव की तैयारी में जुटी शिवराज सरकार, बदलेंगे कई नियम

गंगा के घाटों पर पुलिस का पहरा
इसके तहत चौसा व चरित्रवन स्थित श्मशान घाटों पर दंडाधिकारी व पुलिस पदाधिकारी को तैनात कर पहरा बिठाया गया है। वहीं मोटर बोट से गश्ती के माध्यम से भी नजर रखी जा रही है। यही नहीं शव बरामदगी के बाद हुई किरकिरी को रोकने के लिए ड्रोन का भी उपयोग किया जा रहा है। गंगा में महाजाल भी लगाए गए हैं। महाजाल के माध्यम से पिछले चौबीस घंटे में बहकर आने वाले पांच शवों को निकाला जा चुका है। बुधवार को दस शव महाजाल से निकाले गए। इससे पहले मंगलवार को दो शव निकाले गए थे।

यह भी पढ़ें-  Bank News बैंकों में 01 अगस्त से बदल जाएंगे पैसों से जुड़े यह नियम, आपका जानना जरूरी
Show More
Back to top button