मध्यप्रदेशहाेम

पन्ना जिले की नदी में मिले दो शव, राजधानी तक मचा हड़कंप, पूरी जांच के बाद मंत्री ने बताई ये हकीकत

पन्ना जिले की नदी में 2 शव मिलने के बाद राजधानी भोपाल तक हड़कंप मच गया। अफवाह फैली कि दोनों की मौत कोविड से हुई जिन्हें यहां फेंक दिया गयाये

Advertisements

भोपाल। पन्ना जिले की नदी में 2 शव मिलने के बाद राजधानी भोपाल तक हड़कंप मच गया। अफवाह फैली कि दोनों की मौत कोविड से हुई जिन्हें यहां फेंक दिया गया बिहार में गंगा नदी में शव मिलने का मामला अभी गर्म ही था कि एमपी में भी ऐसी ही घटना के बाद सरकार के कान खड़े हुए तो यहां के मंत्री ने इसकी पूरी जांच कराई और मामला कुछ और निकला।

मध्य प्रदेश के पन्ना जिले (Panna District) से बहने वाली केन नदी (Ken River) की सहायक नदी रूंझ (Roonjh River) में भी गंगा नदी (Ganga River) की तरह ही शव मिलने से जहां एक तरफ गांवों मं सनसनी फैल गई।

वही दूसरी तरफ सियासत गर्मा गई है। कांग्रेस ने इसे मुद्दा बनाकर बीजेपी, पन्ना प्रशासन और शिवराज सरकार को घेरना शुरु कर दिया है वही श्रम एवं खनिज साधन मंत्री  बृजेन्द्र प्रताप सिंह ने कतिपय समाचार पत्र में छपी खबर का खंडन किया है। उन्होंने कहा कि पन्ना कलेक्टर (Panna Collector) एवं पुलिस अधीक्षक ने स्वंय मे जाकर मौके का मुआयना किया है।

मंत्री  बृजेन्द्र प्रताप सिंह ने कहा कि इस संबंध में पुलिस अधीक्षक (Panna SP), पन्ना एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी अजयगढ़ जिला पन्ना के प्राप्त प्रतिवेदन के अनुसार रुंझ नदी में मिले दो शवों में एक शव कल्लू अहिरवार पिता बोधन अहिरवार उम्र 75 वर्ष निवासी ग्राम बीहर सरवरिया नहराई पुरवा का है और दूसरा शव शिवराम अहिरवार पिता टिडिया अहिरवार उम्र 90 वर्ष निवासी बाबूपुर थाना नरैनी हाल निवासी बीहर सरवरिया अजयगढ़ का है।

मंत्री  बृजेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि स्थानीय व्यक्तियों से शवों की पहचान होने के बाद उनके परिवार वालों को बुलाया गया। कल्लू अहिरवार तनय बोधन अहिरवार उम्र 75 वर्ष के पुत्र रामस्वरूप, उनके भाईयों, समाज के व्यक्तियों, सरपंच तथा सचिव ने यह स्पष्ट किया कि कल्लू अहिरवार विगत तीन वर्षों से कैंसर की बीमारी से पीड़ित थे, जिससे उनकी मृत्यु 5 मई, 2021 को घर पर हो गई थी। उनके परिवार वाले एवं गांव के लोगों ने बताया कि हमारे क्षेत्र में परंपरा है कि जिसकी मृत्यु कैंसर या गंभीर बीमारी से हो जाती है। ऐसे व्यक्ति के शव का दाह संस्कार न किया जाकर नदी के जल में प्रवाहित कर देते हैं। इसी परंपरा के चलते कल्लू अहिरवार को रुंझ नदी के जल में प्रवाहित कर दिया गया था।

मंत्री  बृजेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि दूसरे व्यक्ति श्री शिवराम तनय टिडिया अहिरवार उम्र 90 वर्ष निवासी बाबूपुर हाल निवासी बीहर सरवरिया अजयगढ़ की उम्र अधिक हो जाने से 7 मई, 2021 को सामान्य मृत्यु हुई है। शिवराम तनद टिडिया अहिरवार जो कि सफेद दाग जैसी बीमारी से ग्रसित थे। क्षेत्र की परंपरा अनुसार इनके शव का भी अग्नि संस्कार न करते हुए 8 मई, 2021 को रुंझ नदी के जल में प्रवाहित कर दिया गया था। उन्होंने कहा कि पन्ना प्रशासनिक प्रतिवेदन के अनुसार यह स्पष्ट किया गया है कि दोनों व्यक्तियों की मृत्यु कोविड-19 से नहीं होना बताया गया है।

यह भी पढ़ें-  Railway News कई ट्रेनों की टाइमिंग बदली, कई के फेरे बढ़े, देखें पूरी जानकारी
Show More
Back to top button