विदेशहाेम

Johnson & Johnson जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन के उत्पादन पर विचार, देश को जल्द मिलेगा एक और टीका !

जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन का भारत में संयुक्त उत्पादन करने और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआइआइ) जैसे विनिर्माताओं को उत्पादन बढ़ाने में मदद पर विचार कर रहा है।

Advertisements

नई दिल्ली । अमेरिका जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन का भारत में संयुक्त उत्पादन करने और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआइआइ) जैसे विनिर्माताओं को उत्पादन बढ़ाने में मदद पर विचार कर रहा है। अमेरिकी दूतावास के चार्ज डीअफेयर्स डेनियल बी स्मिथ ने मंगलवार को यह बात कही।स्मिथ ने कहा कि अमेरिका भारत में महामारी की मौजूदा स्थिति को लेकर चिंतित है।

बाइडन प्रशासन इस संकट से निपटने के लिए भारत के साथ पूरी मुस्तैदी से खड़ा है।हाल में कार्यवाहक विदेश मंत्री और कार्यवाहक उप-विदेश मंत्री रहे स्मिथ को भारत में अमेरिकी दूतावास में चार्ज डीअफेयर्स नियुक्त किया गया है। एक सवाल पर उन्होंने कहा कि संयुक्त उत्पादन स्थापित करने में समय लगता है।

यह भी पढ़ें-  हाई कोर्ट ने मध्य प्रदेश मेडिकल एडमिशन रूल को दी गई चुनौती खारिज की

अमेरिका इस बात पर गौर कर रहा है कि वह उत्पादन बढ़ाने के लिए कैसे निवेश कर सकता है और कैसे भारत में जॉनसन एंड जॉनसन के टीके के उत्पादन में मदद मिल सकती है। स्मिथ ने अमेरिका के बाल्टीमोर में उत्पादित किए जा रहे एस्ट्राजेनेका के टीके को लेकर भी बात की। उन्होंने कहा, ‘एस्ट्राजेनका के टीके का उत्पादन बाल्टीमोर के बाहरी हिस्से में स्थित संयंत्र में हो रहा है। लेकिन इस संयंत्र के साथ समस्या है। अब तक अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (एफडीए) ने प्रमाणित नहीं किया है कि ये टीके किसी के उपयोग और निर्यात के लिए उपलब्ध हैं या नहीं।’

यह भी पढ़ें-  भोपाल में रिश्वत लेते पकड़ाया बिजली विभाग का अधीक्षण यंत्री
Show More
Back to top button