Shahdolमध्यप्रदेश

अस्पताल में नहींं मिला डाॅक्टर, मौत के बाद बाइक पर बांधकर ले गए शव

अस्पताल में नहींं मिला डाॅक्टर, मौत के बाद बाइक पर बांधकर ले गए शव

Advertisements

Umaria News: उमरिया। एक आदिवासी युवक की मौत के बाद उसके शव को मोटरसाइकिल में रस्सियों से बांधकर गांव ले जाया गया। यह नजारा जिसने भी देखा उसका दिल दहल गया। यह घटना उमरिया जिले के मानपुर की है। मानपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में आदिवासी की मौत के बाद उसके शव को परिजन मोटरसाइकिल में बांधकर ग्रह ग्राम पतौर ले गए।

मानपुर मुख्यालय के ग्राम पतौर निवासी सहजन कोल पिता छोटकनी कोल उम्र 35 वर्ष को अचानक पेट में दर्द हुआ जिसे समुचित इलाज के लिये मानपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया। जहां डॉक्टर की सुविधा उपलब्ध नहीं हो सकी और अस्पताल परिसर में ही तड़प-तड़प कर आदिवासी की मौत हो गई। असहाय गरीब आदिवासी परिजन एक दूसरे का मुंह देखते रह गए। अंततः शव लेकर उन्हें घर की ओर अकेले निकलना पड़ा।

यह भी पढ़ें-  लोकसभा एवं विधानसभा उपचुनाव हेतु भाजपा ने दायित्व सौंपे

बाइक में ले गए शव

मिली जानकारी अनुसार मानपुर विधानसभा क्षेत्र के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में शव वाहन न होने के कारण आये दिन गरीब असहाय आदिवासियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। जहां साइकल व मोटरसाइकल में लाश लाने ले जाने में आदिवासी मजबूर होते हैं। ऐसा ही जब पतौर निवासी आदिवासी युवक की इलाज के आभाव में मौत हो गई तो मजबूर परिजनों को मोटरसाइकल में शव को रस्सी से बांध कर ले जाना पड़ा।

Show More
Back to top button