यहां 22 जुलाई को ही मनाया जा चुका है स्वतंत्रता दिवस, जानिए क्या है वजह

Advertisements

मंदसौर। जहां एक ओर अपने 71वें स्वतंत्रता दिवस पर भारत आज देशभक्ति के रंग में सराबोर है वहां यह जानकर आपको हैरत होगी कि मध्यप्रदेश के मंदसौर शहर के प्रसिद्ध पशुपतिनाथ मन्दिर में आजादी का सालाना पर्व 22 जुलाई को ही मना लिया गया.
इंदौर से लगभग 250 किलोमीटर दूर मंदसौर में शिवना नदी के किनारे स्थित इस प्राचीन मंदिर में स्वतंत्रता दिवस हिन्दू पंचांग के अनुसार मनाया जाता है. यह परम्परा दो दशक से भी अधिक पुरानी है.
पशुपतिनाथ मंदिर के पुरोहित उमेश जोशी ने मीडिया को बताया कि 15 अगस्त 1947 को जब देश अंग्रेजी राज से आजाद हुआ, तब हिंदू पंचांग के मुताबिक श्रावण मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी थी. भगवान शिव के मन्दिर में हर साल इसी तिथि के अनुसार पूजा-पाठ कर स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता है.
उन्होंने बताया, ‘‘इस बार यह तिथि (श्रावण कृष्ण चतुर्दशी) 22 जुलाई को पड़ी. इसलिए पशुपतिनाथ मन्दिर में परम्परा के मुताबिक दूर्वा (पूजन में प्रयोग होने वाली खास तरह की घास) के जल से अष्टमुखी शिवलिंग का अभिषेक किया गया और देश की खुशहाली और सुरक्षा की प्रार्थना की गई.’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Notifications    OK No thanks