हाेम

CBSE ने 10वीं बोर्ड की रद परीक्षा के लिए मूल्‍यांकन नीति का किया एलान, जानें कैसे मिलेंगे अंक

सीबीएसई की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि हर विषय के लिए 20 अंक आंतरिक मूल्यांकन के जरिए दिए जाएंगे जबकि 80 अंक सत्र के दौरान हुए टेस्‍ट में मिले नंबरों के आधार दिए जाएंगे।

Advertisements

नई दिल्‍ली। देश भर में तेजी से फैल रही कोरोना महामारी के मद्देनजर रद की गई 10वीं की बोर्ड परीक्षा के लिए केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने अंकन नीति की घोषणा की है। सीबीएसई की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि हर विषय के लिए 20 अंक आंतरिक मूल्यांकन के जरिए दिए जाएंगे जबकि 80 अंक सत्र के दौरान हुए टेस्‍ट में मिले नंबरों के आधार दिए जाएंगे।

हालांकि सीबीएसई परीक्षा नियंत्रक (CBSE Examination Controller) संयम भारद्वाज (Sanyam Bhardwaj) ने यह भी निर्देश दिया है कि स्‍कूलों को सुनिश्चित करना होगा कि उनके द्वारा 10वी की बोर्ड परीक्षाओं में दिए गए अंक स्कूल में स्‍टूडेंट के पिछले प्रदर्शन के अनुरूप हों। यही नहीं उन्‍होंने यह भी कहा कि परिणाम को अंतिम रूप देने के लिए स्कूलों को प्रिंसिपल की अध्यक्षता में आठ सदस्यीय समिति का गठन भी करना होगा।

यह भी पढ़ें-  बाबा राम रहीम को उम्रक़ैद की सजा, CBI कोर्ट ने सुनाया फैसला

परीक्षा नियंत्रक (CBSE Examination Controller) ने यह भी कहा कि मूल्यांकन में अनुचित और पक्षपातपूर्ण व्यवहार करने वाले स्कूलों के खिलाफ सख्‍त कार्रवाई की जाएगी। मालूम हो किकोरोना महामारी दूसरी लहर की भयावहता को देखते हुए केंद्र सरकार ने बीते दिनों केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की 10वीं की बोर्ड परीक्षा रद कर दी थीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा स्थगित करने का फैसला किया था।

बता दें कि यह पहली बार है जब सीबीएसई ने 10वीं की परीक्षाओं को पूरी तरह रद कर दिया है। पिछले साल कोरोना की पहली लहर और दिल्ली के उत्तर-पूर्व इलाके में भड़के दंगों को देखते हुए सीबीएसई (Central Board of Secondary Education, CBSE) की परीक्षाएं आंशिक रूप से रद कर दी गई थी। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हुई एक बैठक के बाद परीक्षाओं को रद करने का फैसला लिया गया था।

Show More
Back to top button