मध्यप्रदेशहाेम

कम्यूटर बाबा बोले- लक्ष्मण सिंह को बड़े भाई दिग्विजयसिंह से पूछना चाहिए मैं कौन हूँ..


दमोह। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के छोटे भाई और चांचौड़ा विधायक लक्ष्मण सिंह द्वारा फर्जी बाबा बताए जाने पर मप्र नदी न्यास के अध्यक्ष कंप्यूटर बाबा ने पलटवार किया गया है। दमोह में कंप्यूटर बाबा ने कहा- वह कौन हैं, यह पता लगाने के लिए लक्ष्मण सिंह को अपने बड़े भाई पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह से पूछना चाहिए। क्योंकि वे मुझे अच्छे से जानते हैं। मैं लक्ष्मण सिंह पर टिप्पणी नहीं करना चाहता हूं। 

उन्होंने कहा कि वे कैसे हैं और उन्होंने टिप्पणी क्यों की, उनकी बुद्धि का परिचय उन्होंने स्वयं ही दे दिया है। इसलिए अब उन पर बात करने से कोई मतलब नहीं है। प्रदेश में अवैध उत्खनन ज्यादा होने के सवाल पर बाबा ने बताया कि यह शिवराज सरकार के कार्यकाल का नतीजा था। उनके कार्यकाल में भर्राशाही खूब चली। उनके 15 साल का कचरा अब हम लोग समेट रहे हैं। बाबा ने आरोप लगाया कि शिवराज के भाई, भतीजे और परिवार के लोग अवैध उत्खनन में लिप्त रहे हैं।

रेत नीति के हिसाब से ही काम होगा- बाबा

सबसे ज्यादा रेत का अवैध उत्खनन उनकी विधानसभा बुधनी में मिला है। लेकिन, जब से कमलनाथ सरकार आई है, प्रदेश में अवैध उत्खनन रुक रहा है। इसके लिए हम किसी भी स्थिति में नदी के अंदर मशीन नहीं चलने देंगे। जो रेत नीति बनी है, उसी हिसाब से रेत निकालना होगी। उन्होंने बताया कि उनका काम अवैध रेत निकालने से रोकना है। कई बार अवैध उत्खनन करने वालों को मौके पर पकड़ भी लेते हैं। 

नदियों को बचाने के लिए काम करने की जरूरत

बाबा ने बताया कि रेत से अवैध रेत का उत्खनन रोका जाना है, यह लक्ष्य बनाया है। हम नदी के दोनों ओर पेड़ और पौधे लगाने को लेकर काम करेंगे। हमने अधिकारियों और गुंडों को आगाह किया है कि शिवराज सरकार खत्म हो गई है। अब ऐसा नहीं चलेगा। जो ऐसा करेंगे, उन्हें सबक सिखाया जाएगा। इसी तरह बाबा ने बताया कि कई शहरों में नदियां दूषित हो रही हैं, ऐसी नदियों को बचाने के लिए काम करने की जरूरत है। उन्होंने कोपरा नदी में शहर का दूषित पानी जमा होने के सवाल पर कहा कि यह गंभीर मुद्दा है। इस पर हम बात करेंगे। इस बीच बाबा ने सर्किट हाउस में अधिकारियों की बैठक ली और हालात जानने के लिए रवाना हो गए।

‘शिक्षित समाज कभी फर्जी बाबाओं को स्वीकार नहीं करेगा’ : लक्ष्मण सिंह

विधायक लक्ष्मण सिंह ने कंप्यूटर बाबा को लेकर 19 फरवरी को कहा था- “शिक्षित समाज में फर्जी बाबाओं की कोई जगह नहीं है। जो तपस्या करते हैं, सही मायने में वे संत हैं, उनको दुनिया मानती है। मैं भी मानता हूं। लेकिन कंप्यूटर बाबा जैसे फर्जी बाबाओं को शिक्षित समाज कभी स्वीकार नहीं करेगा।” उन्होंने आगे कहा था- कांग्रेस अगर ऐसे फर्जी बाबाओं को साथ रखेगी तो भविष्य में नुकसान होने की पूरी संभावना है। पहले भी ऐसे फर्जी बाबाओं से कांग्रेस को काफी नुकसान हो चुका है। 



Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button