शहर

बाथरूम में मिली योजनाओं की किताबें

बांटने के दी गई थी विभागों को, मुख्यमंत्री के 11 वर्ष के कार्यों का है ब्योरा
 कटनी। इसे अधिकारियों की लापरवाही ही कहा जाएगा कि शासन की योजनाओं के प्रचार प्रसार के लिए लाखों रूपए खर्च कर प्रकाशित की गई किताबों को आम जनता को देने की बजाए वे सरकारी विभागों में बने शौचालय में धूल खा रही है। जानकारी के मुताबिक इन किताबों को जनसंपर्क विभाग के माध्यम से प्रकाशित करवाया गया था और विभागों को इन्हें शिविरों के आयोजन सहित अन्य अवसरों पर आम जनता को बांटने के लिए दिया गया था। बताया जाता है कि उक्त सामग्री
में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तस्वीर सहित शासकीय योजनाओं की जानकारी है। किताबों के इस तरह शौचालयों में मिलने की जानकारी सामने आने के बाद भी संबंधित विभाग के प्रमुख पर क्या कार्यवाही की गई है, इसकी जानकारी अभी तक नहीं मिल पाई है। इस संबंध में प्राप्त जानकारी के अनुसार शासकीय योजनाओं की जानकारी आम जनता तक पहुंचाने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने जनसंपर्क विभाग के माध्यम से कई किताबों को प्रकाशत कराया है। ये किताबें सभी विभागों के अधिकारियों को आम जनता बांटने के लिए दी गई थी लेकिन कलेक्ट्रेट परिसर स्थित सुलभ शौचालय के बाथरूम में इन्हीं योजनाओं से संबंधित बोरियों में बंधी किताबें रखी पाई गईं हैं। इनमे से कुछ किताबें बोरियों से खुली पड़ीं थी, जिनमें नवाचार का सम्मान और मुख्यमंत्री के 11 वर्ष जन कल्याण से संबंधित किताबें भी शामिल हैं। 

AD

AD
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button