HOMEMADHYAPRADESH

Lokayukta Trapped मिलन रेस्‍टारेंट में रिश्‍वत खोर का लोकायुक्‍त से हुआ मिलन, 40 हजार रुपए रिश्वत लेते गिरफ़तार

लोकायुक्त का दावा है कि उन्होंने पिल्लई को उस समय गिरफ्तार किया जब वह एक महिला कर्मचारी की मृत्यु के बाद उसके बेटे से 40000 रुपए रिश्वत की वसूली कर रहा था। 

AD
Lokayukta Trapped  Bhopal के एमपी नगर के मिलन रेस्‍टारेंट में एक अधिकारी ने वैसे तो रिश्‍वत लेने के लिए श्‍ख्‍स का बुलाया था लेकिन यहां इस अधिकारी का मिलन लोकायुक्‍त से हुआ तो यह मिलन गिरफ़तारी में बदल गया।  लोकायुक्त पुलिस ने विद्युत यांत्रिकी विभाग के स्थापना प्रभारी जीके पिल्लई को गिरफ्तार किया है। लोकायुक्त का दावा है कि उन्होंने पिल्लई को उस समय गिरफ्तार किया जब वह एक महिला कर्मचारी की मृत्यु के बाद उसके बेटे से 40000 रुपए रिश्वत की वसूली कर रहा था।  जवाहर चौक निवासी सिद्धार्थ सक्सेना ने लोकायुक्त पुलिस को शिकायत की थी। उन्होंने बताया था कि उनकी मां नीना सक्सेना कार्यालय कार्यपालन यंत्री विद्युत यांत्रिकी कोलार रोड भोपाल में ट्रेसर के पद पर पदस्थ थीं। उनका जून में निधन हो गया है। मां ने सर्विस रिकॉर्ड में सिद्धार्थ को ही नॉमिनी बनाया था। जब सिद्धार्थ ने मां के जीपीएफ और अन्य लाभों के भुगतान के लिए आवेदन किया, तो स्थापना प्रभारी जीके पिल्लई ने भुगतान के बदले 40 हजार रुपए रिश्वत की मांग की।
लोकायुक्त पुलिस द्वारा की गई प्राइमरी इन्वेस्टिगेशन में शिकायत सही पाई गई। इसके बाद लोकायुक्त पुलिस ने पिल्लई को ट्रैप करने का प्लान बनाया। शिकायतकर्ता सिद्धार्थ को केमिकल युक्त नोट दिए गए। पिल्लई ने रिश्वत के लेनदेन के लिए MP नगर के मिलन रेस्टोरेंट में बुलाया। जैसे ही सिद्धार्थ ने पिल्लई को पैसे दिए लोकायुक्त पुलिस ने उसे पकड़ लिया।

AD

AD
Show More
Back to top button