HOMEMADHYAPRADESHजबलपुर

Lokayukta Trapped 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा गया ऑडिटर

Lokayukta Trapped 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा गया ऑडिटर

AD

Lokayukta Trapped जबलपुर स्थित हिरन सिंचाई डिवीजन पचपेढ़ी में राज्य आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो (ईओडब्ल्यू) की टीम ने आडिटर संदीप मस्के को 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा है.

AD

आडिटर संदीप मस्के के ईओडब्ल्यू के हत्थे चढऩे की खबर के बाद विभाग के अधिकारी व कर्मचारी पहुंच गए. जिनके बीच तरह तरह की चर्चाएं व्याप्त रही.

इस संबंध में ईओडब्ल्यू एसपी देवेन्द्रप्रताप सिंह राजपूत ने बताया कि ठेकेदार नरेन्द्रसिंह परिहार ने अपनी सुरक्षा निधि 12 लाख रुपए वापस करने के लिए पचपेढ़ी स्थित हिरन सिंचाई विभाग में आवेदन दिया. उक्त राशि निकालने के लिए आडिटर संदीप मस्के ने 15 हजार रुपए की रिश्वत मांगी. जिसकी शिकायत पीडि़त नरेन्द्रसिंह परिहार ने ईओडब्ल्यू आफिस पहुंचकर एसपी देवेन्द्रसिंह राजपूत से शिकायत की.

इसके बाद आज नरेन्द्रसिंह पचपेढ़ी स्थित हिरन डिवीजन के लेखाकक्ष में पहुंचा. जहां पर नरेन्द्र ने आडिटर संदीप मस्के को 15 हजार रुपए की रिश्वत दी. भी ईओडब्ल्यू टीम इंस्टेक्टर सुश्री शशिकला मस्कूले, मोमेंद्र मर्सकोले, एसआई गोविन्द यादव, फरजाना परवीन ने दबिश देकर आडिटर संदीप मस्के को रंगे हाथ पकड़ लिया. संदीप मस्के के ईओडब्ल्यू टीम के हत्थे चढऩे की खबर आफिस में आग की तरह फैल गई. जिसमें भी आडिटर संदीप मस्के के पकड़े जाने की खबर सुनी तो स्तब्य रह गया

AD
Show More
Back to top button