HOMEज्ञान

indian railway लोअर बर्थ लेना चाहते है ? IRCTC ने बताया क्या करना चाहिए आपको

indian railway लोअर बर्थ लेना चाहते है ? IRCTC ने बताया क्या करना चाहिए आपको

AD

INDIAN RAIL indian railway सफर करते समय ज्यादातर यात्रियों को लगता है कि नीचे की सीट मिल जाए ताकि, उनका सफर आसान हो जाए और उन्हें यात्रा के दौरान बर्थ में नीचे- उपर उतरने की दिक्कतों का सामना न करना पड़े। लेकिन इस चाहत को रखने वाले लोगों को लोवर सीट पाने का तरीका पता ही नहीं होता है।

AD

वहीं आपके साथ सीनियर सिटीजंस या फिर बीमार हों और अपर बर्थ अलॉट हो जाए तो परेशानी और भी बढ़ जाती है.इस खबर में हम आपको आसानी से लोअर सीट पाने का तरीका बताएंगे. इसके साथ ही हम बताएंगे कि कितनी लोअस सीटें हर डिब्बे में आरक्षित होती हैं और इन सीटों को पाने का क्या उपाय है? तो ये रहा ट्रेन में लोअल बर्थ पाने का आसान उपाय…

बुकिंग करते समय इस ऑपसन को करें सिलेक्‍ट 

रेलवे ने रेल यात्रियों के सुविधा के लिए एक विकल्प दे रखा है। अगर आप सीनियर सिटीजन नहीं है और नीचे की बर्थ का टिकट पाना चाहते हैं तो आप IRCTC की वेबसाइट पर टिकट की बुकिंग करते समय लोअर बर्थ के विकल्प का चुनाव कर लें. इसके बाद रेलवे अपने नियमों के मुताबिक, आपको लोअर सीट अलॉट कर सकता है. बस फिर क्या आप मजे से नीचे की सीट में आसानी से यात्रा कर सकते हैं।

इसके साथ ही अगर आप 2एस में यात्रा कर रहे हैं तो आप खिड़की वाली सीट का भी विकल्प चयनित कर सकते हैं और अपने सफर को आरामदायक के साथ सुहाना बना सकते हैं।

IRCTC का नियम जान लीजिए 

IRCTC की तरफ से रेलवे सेवा नाम के ट्विटर हैंडल से रेलवे टिकट बुकिंग का पूरा नियम बताया गया. भारतीय रेलवे की कम्प्यूटरीकृत आरक्षण प्रणाली में सीनियर सिटीजंस और 45 साल से ज्‍यादा उम्र की महिला यात्रियों को ऑटोमेटिक लोअर बर्थ अलॉट किया जाता है. भले ही आपने कोई विकल्‍प सिलक्‍ट ना किया हो. आगे रेलवे की ओर से बताया गया कि अगर सीनियर सिटीजंस के साथ कोई और भी यात्रा कर रहा है जो वरिष्ठ नागरिकों की कैटेगरी में नहीं आता तो रेलवे इन मामलों में लोअर बर्थ देने पर विचार नहीं करता.

लोअर बर्थ का होता है कोटा  IRCTC Rule

भारतीय रेलवे के मुताबिक, सीनियर सिटिजंस के लिए बुकिंग में अलग से कोटा निर्धारित होता है. इसके लिए स्‍लीपर क्‍लास (Sleeper Class) और ऐसी क्‍लास दोनों में कुछ निचली बर्थ आरक्षित की जाती है. जैसे स्लीपर क्लास में हर कोच में छह लोअर बर्थ और एसी 3 टियर और एसी 2 टियर क्लास में हर कोच में तीन लोअर बर्थ का कोटा सीनियर सिटीजंस के लिए निर्धारित किया गया है.

AD
Show More
Back to top button