Tuwar Dal Price Hike: अब दाल में लगा महंगाई का तड़का, 110 रुपये पार पहुंची तुवर दाल

Tuwar Dal Price Hike। लोगों को अब दाल की महंगाई से भी मुकाबला करना होगा। इंदौर खेरची बाजार में तुवर दाल के दाम 100 रुपये प्रति किलो के पार पहुंच गए हैं। पांच दिनों से रोज दाल के दाम बढ़ रहे हैं। मिल और मंडियों की स्थिति के लिहाज से बुधवार-गुरुवार तक तुवर दाल 120 से 125 रुपये किलो तक जाने की आशंका जताई जा रही है। तुवर दाल मालवा-निमाड़ क्षेत्र में सबसे ज्यादा उपभोग की जाने वाली दाल है। सोमवार को शहर की खेरची दुकानों से तुवर दाल 110 से 115 रुपये प्रति किलो बिकी। दाल मिलों ने सोमवार को दाल पर प्रति किलो 2 से 3 रुपये और बढ़ा दिए। अब इसका असर मंगलवार को एक बार फिर खेरची बाजार में नजर आने के आसार हैं।

बीते सप्ताह तक तुवर दाल 85 से 90 रुपये प्रति किलो में बिक रही थी। शुक्रवार 5 फरवरी से दालों में अचानक तेजी आने लगी। खेरची में तुवर दाल के दाम 100 रुपये किलो हुए। रविवार और सोमवार को 110 रुपये किलो कर दिए गए। ब्रांडेड और बेस्ट क्वालिटी की दाल इससे 5 से 10 रुपये प्रति किलो ज्यादा दाम पर बिक रही है। सेमी होलसेलर चेतन आहूजा के अनुसार अब तक तो कई दुकानदारों के पास पुराना स्टाक था। दाल मिल लगातार दाम बढ़ा रही है ऐसे में मंगलवार-बुधवार को दाल 120 रुपये बिकना तय माना जा रहा है।

दो साल पहले जैसी स्थिति का अंदेशा

 

कुछ लोग अंदेशा जता रहे हैं कि दाल की महंगाई के मामले में दो वर्ष पुरानी स्थितियां न बन जाएं। दो वर्ष पहले तुवर दाल 200 रुपये किलो तक बिकी थी। बीते साल दिसंबर में तुवर दाल 80-85 रुपये प्रति किलो के दाम पर बिक रही थी।

आल इंडिया दाल मिल एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेश अग्रवाल के अनुसार दाल बनाने के कच्चे माल यानी दलहन की कीमतों में आई तेजी महंगाई की वजह बनी है। 15 दिन पहले साबुत तुवर 5500 से 6000 रुपये क्विंटल मंडियों में बिक रही थी तो मिल वाले 80 रुपये किलो में भी दाल डिलीवरी दे रहे थे।

सोमवार को मंडी में तुवर के दाम में करीब 1500 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी हो चुकी है। इसलिए मिल वालों को भी दाल के दाम में करीब 300 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाने पड़े।

Tuwar Dal Price Hike। लोगों को अब दाल की महंगाई से भी मुकाबला करना होगा। इंदौर खेरची बाजार में तुवर दाल के दाम 100 रुपये प्रति किलो के पार पहुंच गए हैं। पांच दिनों से रोज दाल के दाम बढ़ रहे हैं। मिल और मंडियों की स्थिति के लिहाज से बुधवार-गुरुवार तक तुवर दाल 120 से 125 रुपये किलो तक जाने की आशंका जताई जा रही है। तुवर दाल मालवा-निमाड़ क्षेत्र में सबसे ज्यादा उपभोग की जाने वाली दाल है। सोमवार को शहर की खेरची दुकानों से तुवर दाल 110 से 115 रुपये प्रति किलो बिकी। दाल मिलों ने सोमवार को दाल पर प्रति किलो 2 से 3 रुपये और बढ़ा दिए। अब इसका असर मंगलवार को एक बार फिर खेरची बाजार में नजर आने के आसार हैं।

बीते सप्ताह तक तुवर दाल 85 से 90 रुपये प्रति किलो में बिक रही थी। शुक्रवार 5 फरवरी से दालों में अचानक तेजी आने लगी। खेरची में तुवर दाल के दाम 100 रुपये किलो हुए। रविवार और सोमवार को 110 रुपये किलो कर दिए गए। ब्रांडेड और बेस्ट क्वालिटी की दाल इससे 5 से 10 रुपये प्रति किलो ज्यादा दाम पर बिक रही है। सेमी होलसेलर चेतन आहूजा के अनुसार अब तक तो कई दुकानदारों के पास पुराना स्टाक था। दाल मिल लगातार दाम बढ़ा रही है ऐसे में मंगलवार-बुधवार को दाल 120 रुपये बिकना तय माना जा रहा है।

दो साल पहले जैसी स्थिति का अंदेशा

 

कुछ लोग अंदेशा जता रहे हैं कि दाल की महंगाई के मामले में दो वर्ष पुरानी स्थितियां न बन जाएं। दो वर्ष पहले तुवर दाल 200 रुपये किलो तक बिकी थी। बीते साल दिसंबर में तुवर दाल 80-85 रुपये प्रति किलो के दाम पर बिक रही थी।

आल इंडिया दाल मिल एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेश अग्रवाल के अनुसार दाल बनाने के कच्चे माल यानी दलहन की कीमतों में आई तेजी महंगाई की वजह बनी है। 15 दिन पहले साबुत तुवर 5500 से 6000 रुपये क्विंटल मंडियों में बिक रही थी तो मिल वाले 80 रुपये किलो में भी दाल डिलीवरी दे रहे थे।

सोमवार को मंडी में तुवर के दाम में करीब 1500 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी हो चुकी है। इसलिए मिल वालों को भी दाल के दाम में करीब 300 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाने पड़े।