सनातन धर्म और उनके आराध्य का अपमान बर्दाश्त के काबिल नहीं है- शिवसेना

 

शिवसैनिकों ने कथावाचक मुरारी बापू के लिए कहां कि सनातन धर्म में रहकर ही सनातन धर्म का उपहास करते हैं।

प्रयागराज (अनुराग दर्शन समाचार )। आज शिवसेना प्रयागराज की बैठक राम भवन स्थित कार्यालय पर गुरुवार को हुई। बैठक में कथावाचक मुरारी बापू द्वारा भगवान कृष्ण और बलराम पर किया गया व्यंग और कथा के दौरान अल्लाह- मौला की बातों को लेकर शिवसैनिकों में रोष और आक्रोश व्याप्त है।
सबसे प्राचीन धर्म सनातन के आराध्य बलराम जी पर कटाक्ष करते हुए कथा वाचक मोरारी बापू ने कहां कि बलराम जी शराब पीते थे और लड़कियों को छेड़ा करते थे। भगवान श्री कृष्ण जी यमुना तट पर लड़कियों के साथ छेड़छाड़ और मस्ती किया करते थे। शिवसैनिकों ने कथावाचक मुरारी बापू के लिए कहां कि सनातन धर्म में रहकर ही सनातन धर्म का उपहास करते हैं और दूसरे धर्म का प्रचार करने में इतना ही आनंद आता है तो वह स्वयं धर्म परिवर्तन करा लें और सनातन धर्म छोड़ दें। इस तरह सनातन धर्म और उनके आराध्य का का अपमान बर्दाश्त के काबिल नहीं है। और शिवसेना इसका प्रबल विरोध करती है।
बैठक में जिला प्रभारी शिव विशाल गुप्ता, दुर्गेश कुमार, अंकित कुमार, विभोर रस्तोगी, अजय अग्रवाल, आलोक केसरवानी, प्रकाश चौरसिया, राजीव केसरवानी, अजीत गुप्ता, सौरभ चौरसिया, मोहित गुप्ता, सुमित रस्तोगी, विकास केसरवानी सहित कई अन्य उपस्थित रहे।