बदल गई पंचकोसी परिक्रमा की तारीख

 

माघ महीना विलंब से शुरू होने से लिया निर्णय

( अनुराग शुक्ला/आनंत पांडे )
प्रयागराज (अनुराग दर्शन समाचार)। माघ महीना विलंब से शुरू होने के चलते प्रयागराज की पंचकोसी परिक्रमा की तारीख बदल गई है। अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने 21, 22 व 23 जनवरी को पंचकोसी परिक्रमा की तारीख निर्धारित थी। लेकिन, पौष पूर्णिमा 28 जनवरी को है। इसके बाद माघ मास आरंभ होगा। इस देखते हुए परिक्रमा एक, दो व तीन फरवरी को कराने का निर्णय लिया है।
देश-विदेश के श्रद्धालुओं को इस परिक्रमा से जोडऩे के लिए इंटरनेट मीडिया में उसका सीधा प्रसारण कराया जाएगा। परिक्रमा का स्वरूप बढ़ाने व आम व्यक्ति को उससे जोडऩे के लिए परिषद श्रद्धालुओं को शामिल करेगा। प्रयागराज में अंतर्वेदी, बहिर्वेदी व पंचक्रोसी परिक्रमा का विधान है। लेकिन, मुगलकाल में परिक्रमा की परंपरा रुक गई थी।
अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने प्रयागराज में 2019 में हुए कुंभ पर्व (मेला) में परिक्रमा की परंपरा पुनरू आरंभ कराई थी। अखाड़ा परिषद के महामंत्री महंत हरि गिरि के अनुसार शास्त्रों में वर्णित है कि माघ मास में प्रयागराज में समस्त देवी-देवताओं का वास होता है। इसी कारण माघ मास में संगम तीरे कल्पवास किया जाता है। परिक्रमा भी माघ मास में करने का विधान है। इसके मद्देनजर पंचकोसी परिक्रमा की तारीख बदली गई है।