HOMEराष्ट्रीय

Maharashtra Political Crisis महाराष्ट्र में सियासी सांप सीढ़ी, शह मात का खेल, पढ़ें कौन किस पर भारी

Maharashtra Political Crisis महाराष्ट्र में सियासी सांप सीढ़ी, शह मात का खेल, पढ़ें कौन किस पर भारी

Maharashtra Political Crisis Live News Updates in Hindi: महाराष्ट्र में सियासी संकट लगातार गहराता ही जा रहा है। एक तरफ शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे बार-बार महाराष्ट्र सरकार को चुनौती दे रहे हैं वहीं दूसरी ओर सीएम उद्धव ठाकरे असहाय नजर आ रहे हैं। इतना ही नहीं शिंदे ने अब मैजिक नंबर पूरा होने का भी दावा कर दिया है।

AD
खुद को पार्टी से अलग करने के लिए तैयार: उद्धव
महाराष्ट्र के सीएम ने कहा कि अगर आपको लगता है कि मैं बेकार हूं और पार्टी चलाने में असमर्थ हूं, तो मुझे बताएं। मैं खुद को पार्टी से अलग करने के लिए तैयार हूं, आप बता सकते हैं। आपने अब तक मेरा सम्मान किया क्योंकि बालासाहेब ने ऐसा कहा था। अगर आप कहते हैं कि मैं अक्षम हूं, तो मैं इस समय पार्टी छोड़ने को तैयार हूं।
10:44 PM, 24-JUN-2022

उद्धव ठाकरे का शिंदे पर निशाना
उद्धव ठाकरे ने एकनाथ शिंदे पर निशाना साधते हुए कहा कि आपका बेटा लोकसभा सांसद है, तो क्या उनके बेटे आदित्य ठाकरे को राजनीतिक रूप से आगे नहीं बढ़ना चाहिए।

10:42 PM, 24-JUN-2022

16 बागी विधायकों को नोटिस भेजा जाएगा नोटिस
सूत्रों के मुताबिक, महाराष्ट्र के डिप्टी स्पीकर नरहरि जिरवाल शिवसेना द्वारा बागी विधायकों के निलंबन के लिए दायर याचिका पर सुनवाई के लिए कल शिवसेना के 16 बागी विधायकों को नोटिस भेज सकते हैं। 27 जून सोमवार को मामले पर सुनवाई हो सकती है।

10:41 PM, 24-JUN-2022

उद्धव ने शिंदे पर लगाए गंभीर आरोप
महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा कि कांग्रेस और एनसीपी आज हमारा समर्थन कर रहे हैं, शरद पवार और सोनिया गांधी ने हमारा समर्थन किया है। हमारे ही लोगों ने हमारी पीठ में छुरा घोंपा है। हमने ऐसे लोगों को टिकट दिया जो जीत नहीं सकते थे और हमने उन्हें विजयी बनाया। उन लोगों ने आज हमारी पीठ में छुरा घोंपा है। उन्होंने कहा कि कुछ दिन पहले जब मुझे इस पर शक हुआ तो मैंने एकनाथ शिंदे को फोन किया और कहा कि शिवसेना को आगे ले जाने का अपना कर्तव्य निभाओ, ऐसा करना सही नहीं है। उन्होंने मुझसे कहा कि एनसीपी-कांग्रेस हमें खत्म करने की कोशिश कर रही है और विधायक चाहते हैं कि हम बीजेपी के साथ जाएं। मैंने उनसे कहा था कि जो विधायक मेरे पास लाना चाहते हैं उन्हें लाओ। उन्होंने कहा कि भाजपा, जिसने हमारी पार्टी, मेरे परिवार को बदनाम किया है, वही है जिसके साथ जाने की आप बात कर रहे हैं। ऐसा सवाल ही नहीं उठता। विधायक अगर वहां जाना चाहते हैं तो वे सभी जा सकते हैं। मैं मना नहीं करूंगा। अगर कोई जाना चाहता है- चाहे वह विधायक हो या कोई और आओ और हमें बताओ और फिर जाओ।

AD
Show More

Related Articles

Back to top button