HOMEज्ञानज्योतिषधर्म

Sawan Month सावन 2022 कष्टों से छुटकारा पाने करें भोलेनाथ की आराधना

Sawan Month सावन 2022 कष्टों से छुटकारा पाने करें भोलेनाथ की आराधना

Sawan Month Significance: हिंदू धर्म में सावन के महीने को बहुत ही पवित्र माना गया है. आषाढ़ पूर्णिमा के बाद सावन के महीने की शुरुआत हुई थी. धार्मिक मान्यता है कि इस माह में  भोलेनाथ की विधिवत्त पूजा करने से भोलेशंकर प्रसन्न होते हैं और सभी कष्टों से छुटकारा मिलता है. इस माह में शिवलिंग का रुद्राभिषेक का भी विशेष महत्व बताया गया है. इस माह में शिवलिंग की अराधना को सबसे उत्तम माना गया है. ऐसी मान्यता है कि इस माह में जो व्यक्ति सोमवार के व्रत रखता है, भोलेशंकर उसकी मनोकामना पूर्ण करते हैं. आइए जानते हैं साल 2022 में कब से है सावन का महीना, जानें सावन के सोमवार की तिथियां.

AD

सावन 2022 कब से शुरू है

हिंदू पंचाग के अनुसार सावन माह की शुरुआत 13 जुलाई आषाढ़ पूर्णिमा के अगले दिन से होगी. 14 जुलाई से सावन माह की शुरुआत हो रही है. और 12 अगस्त श्रावण पूर्णिमा के साथ माह का समापन होगा. बता दें कि सोमवार का पहला व्रत 18 जुलाई को रखा जाएगा. और अंतिम सोमवार 12 अगस्त के दिन होगा. सावन के सोमवार में लोग विधि-विधान से व्रत रखते हैं और पूजा आदि करते हैं.

सावन सोमवार की तिथियां

14 जुलाई, गुरुवार- श्रावण मास का पहला दिन

18 जुलाई, सोमवार- सावन सोमवार व्रत

25 जुलाई, सोमवार- सावन सोमवार व्रत

01 अगस्त, सोमवार- सावन सोमवार व्रत

08 अगस्त, सोमवार- सावन सोमवार व्रत

12 अगस्त, शुक्रवार- श्रावण मास का अंतिम दिन

सावन का महत्व

हिंदू कैलेंडर के अनुसार साल का पांचवा महीना श्रावण का होता है.  शिव पुराण के अनुसार भोलेशंकर ने स्वंय इस माह के बारे में बताया है. सभी माह में सावन का महीना बेहद प्रिय है. इस माह का महात्मय अवश्य सुनना चाहिए. इसलिए इस माह को श्रावण का माह कहा जाता है. इस माह में विधिविधान से पूजा आदि करने से सिद्धि मिलती है.

द्वादशस्वपि मासेषु श्रावणो मेऽतिवल्लभ: । श्रवणार्हं यन्माहात्म्यं तेनासौ श्रवणो मत: ।।

श्रवणर्क्षं पौर्णमास्यां ततोऽपि श्रावण: स्मृत:। यस्य श्रवणमात्रेण सिद्धिद: श्रावणोऽप्यत: ।।

AD
Show More

Related Articles

Back to top button