मध्यप्रदेश में स्कूल-कॉलेज ने की हड़ताल, बंद रहीं ऑनलाइन क्लासें, जानें उनकी 10 मांगें

भोपालः 24 मार्च को लगे लॉकडाउन के बाद से ही देशभर के स्कूल और कॉलेजों को बंद कर दिया गया था. बच्चों के भविष्य पर पड़ते असर को देखते हुए सरकार ने ऑनलाइन कक्षाओं की अनुमति दे दी थी. तब से ही प्रदेश के प्राइवेट स्कूल और कॉलेज, ऑनलाइन क्लास लेकर छात्रों को पढ़ा रहे हैं. लेकिन मंगलवार को भोपाल में ऑनलाइन क्लासेस नहीं ली गई, न तो स्कूलों की और न ही कॉलेजों की. अब उच्च शिक्षा मंत्री ने कॉलेज खोलने को लेकर निर्देश दे दिए हैं.

यादगारे शाहजहांनी पार्क में करेंगे प्रदर्शन
ऑनलाइन क्लासेस नहीं होने के पीछे निजी स्कल और कॉलेजों की हड़ताल है. उन्होंने प्रदेश सरकार से स्कूल और कॉलेज खोलने समेत 10 सूत्रीय मांगों को लेकर विरोध किया. इसी विरोध के चलते राजधानी में ऑनलाइन कक्षाओं को रोका गया. उन्होंने कहा है कि अगर प्रदेश सरकार उनकी मांगों को नहीं मानती है तो वे बुधवार को यादगारे शाहजहांनी पार्क में प्रदर्शन करेंगे.

ये हैं निजी स्कूल और कॉलेजों की 10 मांगे-

1. 31 मार्च 2021 तक पहली से आठवीं तक के स्कूल बंद रखने का फैसला वापस हो.

2. नौवीं से 12वीं तक की कक्षाएं तुरंत शुरू की जाएं.

3. नियमित स्कूल के साथ ऑनलाइन क्लासेस संभव नहीं दोनों के एक साथ संचालन का आदेश वापस हो.

4. नौवीं से 12वीं तक की कक्षाएं शुरू करने के बाद पहली से 8वीं की कक्षाएं भी शुरू की जाएं.

5. केवल प्रोजेक्ट वर्क के आधार पर जनरल प्रमोशन नहीं दिया जाए.

6. बिजली बिल, प्रापर्टी टैक्स, स्कूल बस रोड टैक्स माफ किया जाए.

7. RTE के तहत एडमिशन लेने वाले छात्रों की फीस प्रतिपूर्ति जल्द की जाए.

8. स्कूल खुलने पर ट्यूशन फीस के अलावा भी फीस लेने की मंजूरी दी जाए.

9. फीस नहीं देने वाले स्टूडेंट्स को अगली कक्षा में प्रमोट नहीं किया जाए.

10. प्राइवेट स्कूल-कॉलेज संचालकों से चर्चा कर मंथन करे सरकार.

31 मार्च तक बंद है पहली से आठवीं तक के स्कूल
इन्हीं 10 मांगों को लेकर भोपाल के निजी स्कूल व कॉलेजों ने प्रदेश सरकार के विरोध में ऑनलाइन कक्षाएं बंद रखी. बता दें कि प्रदेश सरकार ने पहली से आठवीं तक की कक्षाओं को 31 मार्च तक बंद रखने का फैसला किया है. इसके अलावा 10वीं और 12वीं की कक्षाओं को नियमित रूप से खोलने के निर्देश दिए हैं.

 

शिक्षा मंत्री ने दे दिए हैं कॉलेज खोलने के आदेश
राज्य के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने प्रदेश में कॉलेज खोलने को लेकर आदेश दे दिए हैं. 1 जनवरी 2021 से कॉलेजों की कक्षाओं के संचालन के निर्देश मिले हैं. 10 जनवरी से UG (Under Graduation) और PG (Post Graduation) के अंतिम वर्ष की कक्षाएं शुरू होंगी.

50 फीसदी स्टूडेंट्स ही अटेंड कर सकेंगे क्लास
शिक्षा मंत्री बोले कोरोना काल में हो रही शिक्षा के नुकसान को देखते हुए हमने कॉलेज खोलने का फैसला किया है. इस दौरान सभी कोरोना गाइडलाइंस का पालन करना अनिवार्य होगा. कक्षाओं में अभी 50 फीसदी विद्यार्थियों को ही बैठने की अनुमति होगी. निर्देशों के अनुसार 20 जनवरी से कॉलेजों को पूरी तरह खोलने का फैसला जिला क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप लेगा.