अन्ना हजारे ने फिर दी भूख हड़ताल की चेतावनी, किसानो के मुद्दे पर मंत्री नरेंद्र तोमर को लिखा पत्र

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने किसानों से जुड़े मुद्दे पर केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को पत्र लिखा है. इसमें एम एस स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने सहित उनकी मांगों को पूरा करने में केंद्र की विफलता के खिलाफ फिर से भूख हड़ताल करने की चेतावनी दी है. इससे पहले 8 दिसंबर को केन्द्र के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों के समर्थन में अन्ना हजारे एक दिन के अनशन पर थे.

इतना ही नहीं उन्होंने ये भी चेतावनी दी थी कि अगर किसानों की मांगें पूरी नहीं हुईं तो वह ‘जन आंदोलन’ करेंगे. अन्ना हजारे ने कहा था कि तत्कालीन कांग्रेस सरकार को ‘लोकपाल आंदोलन’ के दौरान हिला दिया गया था. उन्होंने कहा था, “मैं इन किसानों के विरोध को भी उसी तर्ज पर देख रहा हूं. किसानों द्वारा किए गए भारत बंद के दिन मैंने रालेगण-सिद्धि में अपने गांव में एक दिन का उपवास किया था और किसानों की मांगों पर मेरा पूरा समर्थन है.

A

अपनी चिट्ठी में अन्ना हजार ने कहा कि उनकी मांगों पर तत्कालीन कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने रालेगणसिद्धी में आकर लिखित आश्वासन दिया था. अभी तक इसका पालन नहीं हुआ है. उन्होंने कहा, “इसलिए 5 फरवरी 2019 का रुका हुआ अनशन फिर से शुरू करने की सोच शुरू हो गई है. जल्द ही अनशन कहां करना है, कब करना है, तिथि सब तय होने के बाद लिखकर आपको अवगत करूंगा