ममता बेनर्जी के पोस्टर सड़क पर चिपकाए, इंदौर में अनूठा विरोध

इंदौर। बंगाल में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‍डा के काफिले पर टीएमसी कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए पथराव का विरोध शहर में भाजपा कार्यकर्ताओं ने अनूठे तरीके से किया। इस काफिले में राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय भी शामिल थे। शनिवार को पाटनीपुरा चौराहे पर कार्यकर्ताओं ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी के पोस्टर्स सड़क पर चिपका दिए और नारेबाजी की। पोस्टरों पर से वाहन गुजरते रहे। विजयवर्गीय समर्थकों द्वारा इस तरह के विरोध की शहर में चर्चा भी रही।
गौरतलब है कि पिछले दिनों बंगाल के 24 परगना जिले के डायमंड हार्बर में अपने कार्यक्रमों में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे थे, जब उनका काफिला गुजारा तो तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने उस पर पथराव किया था। इसमें कैलाश विजयवर्गीय भी शामिल थे और उन्हें पर चोट लगी थी। इसके अलावा कई अन्य लोगों को भी चोटें आईं थीं। इंदौर में विजयवर्गीय के समर्थकों ने कहा कि भाजपा ने पिछले कुछ समय में बंगाल में अच्छी पैठ बनाई है इससे बौखलाई बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बेनर्जी हिंसा को बढ़ावा दे रही है। सरकार सत्ता गंवाने के डर से विश्व के सबसे बड़े राजनीतिक संगठन के कार्यकर्ताअों को निशाना बनाने में लगी हुई है। भाजपा नेता राजेश बिड़कर ने अपने समर्थकों के साथ रविवार दोपहर चौराहे के आस-पास पोस्टर सड़कों पर चिपकाए। कुछ लोग पोस्टरों के ऊपर से निकलने से बचते रहे तो कुछ ने पोस्टरों को रौंदते हुए वाहन निकाले।
बिड़कर ने कहा कि हम ममता बेनर्जी की हिंसक सोच का विरोध कर रहे हैं इसलिए इस तरह के प्रदर्शन करके अपना विरोध जाहिर किया। हम केंद्र सरकार से मांग करते हैं कि बंगाल में सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाया जाए एवं राष्ट्रीय महासचिव विजयवर्गीय को अतिरिक्त सुरक्षा सुविधा मुहैया कराई जाए