HOMEजरा हट केबॉलीवुड

Pushpa: The Rise अल्लू अर्जुन की मूवी पुष्पा : द राइज में जिस लाल चंदन का जिक्र उसके बारे में जानिए

Pushpa: The Rise अल्लू अर्जुन की मूवी पुष्पा : द राइज में जिस लाल चंदन का जिक्र उसके बारे में जानिए

Pushpa: The Rise, Red Sandalwood अल्लू अर्जुन की मूवी पुष्पा : द राइज (Pushpa: The Rise) के चर्चे हर जगह सुनने मिल रहे हैं. मेकर्स के मुताबिक, यह 2021 की सबसे अधिक कमाई करने वाली मूवी बन गई है. इस मूवी में उत्तर भारत के शेषाचलम जंगल (Seshachalam Forest) में पाए जाने वाले लाल चंदन (Red Sandalwood) की तस्करी के बारे में बताया गया है, जो करोड़ों रूपये का बिकता है. असली में भी यह चंदन काफी कीमती माना जाता है, इसलिए इस जंगल में एंटी स्मगलिंग टास्क फोर्स को तैनात किया गया है जो सेटेलाइट से नजर रखती है. यह चंदन शेषाचलम जंगल के अलावा कहीं नहीं पाया जाता. इसकी तस्करी करते हुए पकड़े जाने पर 11 साल की जेल का प्रवधान है.

AD

करोड़ों रूपये में बिकने वाला लाल चंदन की विदेशों में भी काफी मांग है. इसका उपयोग कई तरीके से किया जाता है. तो आइए पुष्पा मूवी में जिस लाल चंदन का जिक्र

लाल चंदन के बारे में जानकारी

लाल चंदन, चंदन की ही एक किस्म होती है. लाल चंदन का वैज्ञानिक नाम पेरोकार्पस सैंटलिनस (Pterocarpus santalinus) है. इसके अलावा इसे रक्त चंदन, रतनजलि, रक्तचंदनम, शेन चंदनम, अत्ती, शिवप्पु चंदनम, लाल चंदन, रूबी लकड़ी नाम से भी जाना जाता है. ऑस्ट्रेलिया, जापान, सिंगापुर और यूएई समेत कई देशों में लाल चंदन की काफी डिमांड है. लेकिन इसकी डिमांड सबसे अधिक चीन में है.

इसके पेड़ मुख्यत: तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में फैली शेषाचलम पहाड़ियों पर पाए जाते हैं, जिनकी ऊंचाई 26 फीट और मोटाई 50 से 150 सेमी तक हो सकती है. लाल चंदन का उपयोग दवा या औषधि के रूप में कुछ शारीरिक समस्याओं के निदान के लिए किया जाता है.

दाग-धब्बों को कम करने में

इसकी एंटी बैक्टीरियल प्रॉपर्टी के कारण यह स्किन की देखभाल के लिए बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता है. लाल चंदन, पाउडर के रूप में भी बेचा जाता है, लेकिन यह बिल्कुल बारीक पिसा नहीं होता. त्वचा की देखभाल के लिए इसके पाउडर का उपयोग किया जाता है. यह दाग-धब्बों को कम करने और मुंहासों के इलाज में बहुत कारगर बताया गया है. इसमें कूलिंग प्रॉपर्टीज होती हैं, जो सूरज की रोशनी से हुए स्किन टैन को दूर करने में भी मदद करता है. इसके पाउडर को गुलाब जल, नारियल का तेल, गर्म पानी आदि में मिलाकर लगाया जाता है.

एंटी बैक्टीरियल गुण

लाल चंदन में दर्द निवारक गुण पाए जाते हैं. लाल चंदन के पाउडर का लेप सूजन वाली जगह पर लगाने से सूजन कम हो सकती है और दर्द भी काफी हद तक दूर हो जाता है.

घाव भरने वाले गुण

लाल चंदन में घाव भरने के गुण होते हैं और यह छोटे घावों के उपचार के लिए काफी अच्छा माना जाता है. लाल चंदन के पानी से मामूली खरोंच और कट को धोने से घाव तेजी से भरने में मदद मिलती है.

पाचन तंत्र की समस्या से लड़े

लाल चंदन का उपयोग कैंसर, घाव, पाचन तंत्र की समस्याओं से लड़ने में भी किया जाता है. हालांकि, इन बीमारियों में लाल चंदन के असरदार होने को लेकर कोई पुख्ता वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है.

AD
Show More

Related Articles

Back to top button