HOMEKATNI

AAP ने MP की नई शराब नीति को बताया समाज विरोधी, किया प्रदर्शन

AAP ने MP की नई शराब नीति को बताया समाज विरोधी, किया प्रदर्शन

AAP मध्यप्रदेश सरकार द्वारा कैबिनेट की बैठक में मंजूर नई आबकारी(शराब) नीति के फैसले को वापस लिए जाने व कटनी जिले की गांव, गलियों, में बिक रही अवैध शराब, गांजा, स्मैक को बंद कराने की मांग लो लेकर आज कटनी के कचहरी चौक में अध्यक्ष सुनील मिश्रा के नेतृत्व में प्रदर्शन किया गया। इस मौके पर एक ज्ञापन भी सौंपा गया।

AD

ज्ञापन के अनुसार मध्यप्रदेश सरकार द्वारा 18-1-2022 को कैबिनेट की बैठक में मध्यप्रदेश राज्य के लिए एक नई आबकारी(शराब) नीति को मंजूरी प्रदान कर दी गई हैं जो की 1 अप्रैल 2022 से पूरे प्रदेश में लागू हो जायेगी, जहां एक ओर बीजेपी के वरिष्ठ नेताओं ने मध्यप्रदेश की जनता से वादा किया था कि मध्यप्रदेश में नशे को बढ़ावा नही दिया जाएगा और  मध्यप्रदेश में पूर्ण शराब बंदी लागू करेगे, वहीं दूसरी ओर इस नई आबकारी नीति के माध्यम से पूरे प्रदेश की जनता, खासकर गरीबों को नशा करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।

प्रदेश के युवाओं को और गरीबों को शराब के नशे की लत के लिए प्रेरित करेगी। आपकी नई आबकारी नीति में सरकार ने घर में शराब रखने की पुरानी लिमिट से भी 4 गुना अधिक शराब रखने की छूट प्रदान कर दी हैं, नई आबकारी नीति में होम बार(घर-घर शराब ठेके) लाइसेंस प्रदान करने की छूट प्रदान कर दी गई है। नई आबकारी नीति में अब मॉल और एयरपोर्ट पर भी शराब की दुकान को मंजूरी प्रदान कर दी हैं जिसका परिणाम ये होगा कि जिन मॉल्स में हमारी महिलाएं, बहने अभी बिना डर के शॉपिंग करने जा सकती थी उन मॉल्स में भी शराब पीने वालो का जमावड़ा शुरू हो जाएगा और प्रदेश की महिलाएं और अधिक असुरक्षित महसूस करेंगी।

प्रदेश का युवा बेरोजगारी और सरकार की गलत नीतियों की वजह से गहरे अवसाद में हैं, आम आदमी पार्टी, आपसे मांग करती हैं की प्रदेश के युवाओं को शराब नहीं रोजगार दीजिए, शराब के दाम कम नहीं पेट्रोल-डीजल-दूध, गैस, सब्जी के दाम कम कीजिए। कटनी जिले के छोटे से छोटे समस्त ग्रामों में शहर की गलियों में खुले आम शराब, गांजा, स्मैक की बिक्री धड़ल्ले से चल रही है छात्र युवा पीढ़ी नशे की गिरफ्त में है जिससे कटनी में नित नई घटनाएं हो रही है ग्रह अत्याचार अपराध बढ़ रहा है जिसका प्रमुख कारण यह नशा है जिसे तत्तकाल बंद कराकर कठोर कार्यवाही की जाए।

AD
Show More

Related Articles

Back to top button