Corona newsHOMEMADHYAPRADESH

MP News: कोरोना संक्रमण के लक्षण होने पर गलत पता या जानकारी दी तो होगी FIR

MP News: कोरोना संक्रमण के लक्षण होने पर गलत पता या जानकारी दी तो होगी FIR

MP News कोरोना संक्रमित होने पर अगर गलत जानकारी दी पता गलत बताया तो FIR हो सकती है। यह निर्देश आज CM शिवराज ने बैठक में दिए।

कोरोना संक्रमण के लक्षण होने पर कई लोग जांच तो कराते हैं पर गलत पता और मोबाइल नंबर लिखवा देते हैं। ऐसे व्यक्तियों की रिपोर्ट पाजिटिव आने पर उन्हें तलाशने में काफी परेशानी होती है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ऐसे मामलों में प्रकरण दर्ज FIR कराने के निर्देश कलेक्टरों को देते हुए कहा कि ये लोग संक्रमण फैलाने वाले बनेंगे। इनके विरुद्ध सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। वहीं, 15 से 18 साल के किशोरों के साथ अन्य पात्र व्यक्तियों के, कुछ जिलों में कम टीकाकरण पर उन्होंने नाराजगी जताई। कहा कि कोई भी बहाना नहीं चलेगा। हमें परिणाम चाहिए। यदि टीकाकरण के लिए पात्र व्यक्ति नहीं मिल रहे हैं तो सत्यापित सूची दीजिए कि संबंधित व्यक्ति जिले में नहीं है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि तीसरी लहर में अभी प्रकरण और बढ़ेंगे।

आपदा प्रबंधन समूूहों के सदस्य, मंत्री, विधायक, कलेक्टर, कमिश्नर सहित अन्य अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री ने कहा कि तीसरी लहर में अभी प्रकरण और बढ़ेंगे। हालांकि, संतोष की बात यह है कि संक्रमितों को अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत कम ही पड़ रही है इसलिए होम आइसोलेशन पर सभी कलेक्टर ज्यादा ध्यान दें। प्रदेश में कोरोना की साप्ताहिक संक्रमण दर छह प्रतिशत हो गई है।

प्रदेश में 21 हजार 394 सक्रिय केस

बैठक में अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान ने कोरोना संक्रमण की स्थिति को लेकर प्रस्तुतिकरण दिया। इसमें बताया गया कि दूसरी लहर की तुलना में तीसरी लहर में संक्रमण के प्रकरण बढ़ने की दर तीन गुना से अधिक है। प्रदेश में 21 हजार 394 सक्रिय केस हैं। कुछ जिलों में संक्रमण की दर दस प्रतिशत से ज्यादा है। 96.07 संक्रमित घर पर रहकर उपचार ले रहे हैं। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि निश्चिंतता का भाव न रहे। होम आइसोलेशन व्यवस्था बेहतर रहे।

आइसोलेशन व्यवस्था के संबंध में जानकारी ली

उन्होंने इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह, भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया, ग्वालियर कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह, जबलपुर कलेक्टर कर्मवीर शर्मा, उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह, सागर कलेक्टर दीपक आर्य से होम आइसोलेशन व्यवस्था के संबंध में जानकारी ली। इस दौरान कलेक्टरों ने जांच कराने वालों द्वारा गलत जानकारी देने की बात कही तो मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करें। कहा कि आपदा प्रबंधन समूह के सदस्य मास्क लगाने की अनिवार्यता, शारीरिक दूरी का पालन सुनिश्चित कराने और टीकाकरण के काम में सहयोगी की भूमिका निभाएं।

यह भी पढ़ें-  Shweta Tiwari statement: 'मेरी ब्रा का साइज भगवान ले रहे हैं', मचा बवाल गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने मांगी रिपोर्ट
Show More

Related Articles

Back to top button