भटकी हुई दादी को सकुशल उनके घर पहुंचाया, सेवा ही धर्म

लखनऊ । लखनऊ में  समाजसेवी जेपी द्विवेदी के कार्यालय पर सुबह के समय सभी बड़े एवं छोटे मित्रगण एवं भाई बैठे हुए थे। अचानक सुबह लगभग 10  क्षेत्रवासियों के द्वारा पता चला कि, पास में नौबस्ता की एक दादी जिनका नाम कमला देवी है। वह अपने रास्ते से भटक गई है, एवं उनकी उम्र 75 साल के आसपास होने की वजह से उनको अपने परिवार के लोगों के नाम एवं घर का पता याद नहीं आ रहा है। काफी देर उनको आसपास में लोगों से परिचित कराया लेकिन उनका पता ना चला। फिर क्या समाजसेवी (जेपी द्विवेदी) जोकि पिछले कई समय से क्षेत्रवासियों की सेवा करते आ रहे हैं, एवं क्षेत्र की जनता के हर सुख दुख में साथ रहते हैं । वह और जनता का सेवक अमन मिश्रा (जिला सचिव) “लखनऊ उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन” साथ में (आमिर भाई) और दादी को लेकर पास के ही पुलिस चौकी नौबस्ता पहुंचा जोकि मड़ियांव थाने के अंतर्गत आती है। पूरे मामले को चौकी वालों से अवगत कराया। चौकी से अजय दीवान ने तुरंत मामले को गंभीरता से लेते हुए दो पुलिसकर्मियों को साथ में भेजा।

क्षेत्रवासियों से पूछते पूछते लगभग डेढ़ घंटे के बाद दादी के घर के परिवार के बारे में पता चला। फिर क्या समाजसेवी जेपी द्विवेदी आमिर और अमन मिश्रा एवं दोनों पुलिसकर्मियों को साथ में दादी को लेकर उनके घर पहुंच गया। दादी को सकुशल उनके परिवार वालों को सौंप दिया। दादी को देखकर परिवार वालों की एवं उनके बेटे एवं बेटी की आंख नम हो गई। हम लोगों ने परिवार वालों से यह विनती की कि दोबारा इस अवस्था में दादी को कभी अकेला नहीं छोड़ेंगे।