HOME

Banking Rules in New Year 2022: नए साल से बदल जाएंगे ये बैंकिंग नियम, आपकी जेब पर होगा असर

Banking Rules in New Year 2022 । अब बस कुछ ही दिन शेष बचे हैं और नया साल शुरू होने वाला है। साल 2022 शुरू होते ही देश में नए बैंकिंग नियम भी लागू हो जाएंगे। रिजर्व बैंक और बैंकों की ओर से लगातार सूचना दी जा रही है कि जनवरी से बैंकिंग लेनदेन संबंधी नियमों में बदलाव होने जा रहा है। इन नियमों में बदलाव सिर्फ एटीएम ट्रांजेक्शन को लेकर ही नहीं किए गए हैं, ऐसे कई नए नियम रिजर्व बैंक की ओर से लागू किए गए हैं, जो सीधा आपकी जेब पर असर डालेंगे। आइए जानते हैं साल 2022 में कौन से नए बैंकिंग नियम लागू होने वाले हैं –

जनवरी से लागू होगा नया लॉकर नियम

नए साल से बैंक का लॉकर और अधिक सुरक्षित होगा। रिजर्व बैंक ने स्पष्ट कर दिया है कि बैंक लॉकर की सुरक्षा से बच नहीं सकते हैं। लॉकर में कोई गड़बड़ी होती है तो इसके लिए बैंक जिम्मेदार होगा। अगर बैंक ग्राहक के सामान की सुरक्षा की अनदेखी करते हैं तो इसकी पूरी जिम्मेदारी उनकी होगी। जनवरी 2022 से नया बैंक लॉकर नियम लागू हो जाएगा। यदि कोई प्राकृतिक आपदा आती है तो यह नियम लागू नहीं होगा।
म्यूचुअल फंड सेंट्रल की सेवा भी जल्द होगी शुरू
म्यूचुअल फंड सेंट्रल Cfintech और कंप्यूटर एज मैनेजमेंट सर्विसेज (CAMS) द्वारा लॉन्च किया गया एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है। यह कंपनी म्यूचुअल फण्ड से संबंधित सेवाएं प्रदान करती है। इसे सेबी के निर्देश के बाद इस साल सितंबर के महीने में लॉन्च किया गया था। यह प्लेटफॉर्म पूरी तरह से म्यूचुअल फंड लेनदेन के लिए बनाया गया है। एमएफ सेंट्रल म्यूचुअल फंड लेनदेन से संबंधित सेवाएं प्रदान करता है जैसे बैंक खाते में परिवर्तन, मोबाइल नंबर और ईमेल पता आदि।
म्यूचुअल फंड सेंट्रल में ग्राहकों द्वारा नामांकन दाखिल करने, आय वितरण पूंजी निकासी में बदलाव, एमएफ फोलियो और विदेशी खाता कर अनुपालन अधिनियम से संबंधित विवरण में परिवर्तन के लिए एमएफ सेंट्रल की सेवाएं ली जाती हैं। इसके लिए एक ऐप भी बनाया गया है, जिसे अभी लॉन्च नहीं किया गया है। इस प्लेटफार्म पर लेनदेन शुरू नहीं हुआ है। माना जा रहा है कि यह सेवा जनवरी में भी शुरू हो सकती है।
एटीएम ट्रांजेक्शन लिमिट में भी बदलाव

एटीएम से अब पैसा निकालना भी महंगा हो जाएगा। हर ग्राहक को 5 मुफ्त लेनदेन की सुविधा मिलती है, जिसमें नकद निकासी, बैलेंस पूछताछ, एटीएम पिन परिवर्तन, मिनी स्टेटमेंट अनुरोध और उसी बैंक के एटीएम में एफडी खोलना शामिल है। मेट्रो शहरों में अन्य बैंक के एटीएम से 3 गुना एटीएम सेवा का लाभ उठाया जा सकता है, जबकि गैर-मेट्रो शहरों में यह संख्या 5 है। 1 जनवरी से से ये सेवा महंगी होने जा रही है।

यह भी पढ़ें-  Budget With Sweets 2022: बजट से पहले इस बार हलवा की जगह मिठाई, पहली फरवरी को पेपरलेस बजट पेश करेंगी वित्त मंत्री
Show More

Related Articles

Back to top button