Corona newsHOME

सावधान इंडिया.. चीन में कोरोना ने बरपाया कहर, दो शहरों में लगा लॉकडाउन

सावधान इंडिया.. चीन में कोरोना ने बरपाया कहर, दो शहरों में लगा लॉकडाउन

Advertisements

सावधान इंडिया, बीजिंगः भारत के लिये खबर महत्वपूर्ण तथा सावधान करने वाली है। चीन में फिर से कोरोना का तांडव शुरू हो गया है। चीन ने मंगलवार को कोविड-19 के बिगड़ते प्रकोप के मद्देनजर शीआन से लगभग 300 किलोमीटर दूर एक और शहर यानान में लॉकडाउन लगा दिया है. द गार्जियन ने बताया कि यानान में अधिकारियों ने व्यवसायों को बंद करने का आदेश दिया है और एक जिले के सैकड़ों हजारों लोगों को घर के अंदर रहने के लिए कहा गया है.

चीन में ‘जीरो-कोविड’ रणनीति

चीन ने ‘जीरो-कोविड’ रणनीति का पालन किया है, क्योंकि बीजिंग फरवरी के शीतकालीन ओलंपिक में हजारों विदेशी लोगों का स्वागत करने की तैयारी कर रहा है. लेकिन अधिकारियों ने हाल के हफ्तों में दोबारा मामले में बढ़ोत्तरी का सामना किया है. मंगलवार को 209 संक्रमणों की रिपोर्ट करते हुए, (जो पिछले साल मार्च के बाद से एक दिन में सबसे ज्यादा मामले हैं) जब वायरस केवल वुहान शहर से दुनिया भर में फैलने लगा था.

दिसंबर के बाद बढने लगे कोरोना के मामले

ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, 162 घरेलू मामलों में से 150, शानक्सी प्रांत की राजधानी शीआन में मामले आने के बाद 23 दिसंबर से शहर भर में लॉकडाउन लगा दिया. शीआन स्वास्थ्य आयोग के उप निदेशक झांग बो ने सोमवार को एक संवाददाता सम्मेलन में बताया, ‘9 दिसंबर से सोमवार तक, शीआन में पुष्टि किए गए मामलों की कुल संख्या 635 थी.’

लॉकडाउन में बढ़ाई गई सख्ती

सोमवार की प्रेस कॉन्फ्रेंस के अनुसार, 1.3 करोड़ लोगों का शहर शीआन ने सोमवार को न्यूक्लिक एसिड टेस्ट का एक नया दौर शुरू किया और अपने सभी निवासियों को टेस्ट रिपोर्टों की सटीकता की गारंटी देने के लिए घर पर रहने की आवश्यकता के कारण अपने लॉकडाउन को कड़ा कर दिया है.

वायरस को रोकने के लिए गहन नियंत्रण

चाइनीज एकेडमी ऑफ इंजीनियरिंग के एक शिक्षाविद झांग बोली ने सिन्हुआ समाचार एजेंसी के हवाले से कहा था, ‘शीआन के लिए, जितनी जल्दी हो सके वायरस को रोकने के लिए गहन नियंत्रण और स्क्रीनिंग उपाय जरूरी हैं. मेरा अनुमान है कि जनवरी के मध्य में ट्रांसमिसन कम हो जाएगा और जनवरी के अंत में प्रकोप को पूरी तरह से नियंत्रित किया जा सकता है. यह संभव है.’ शीआन नगरपालिका सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी हे वेनक्वान ने कहा, ‘बीमारी का जल्द पता लगाने, क्वारंटीन और बीमारी को रोकने के लिए बड़े पैमाने पर टेस्ट जरुरी है और यह ट्रांसमिसन की संभावना को कम करेगा.’

यह भी पढ़ें-  Indian Navy: मुंबई नौसेना डॉकयार्ड पर आईएनएस रणवीर में विस्फोट, तीन कर्मचारियों की जान गई
Show More

Related Articles

Back to top button