HOMEज्ञान

Kisan Vikas Patra में निवेश है फायदे का सौदा, जानिए इस स्कीम के बारे में

Kisan Vikas Patra में निवेश है फायदे का सौदा, जानिए इस स्कीम के बारे में

Kisan Vikas Patra बैंको में ब्याज दर कम होने के बाद निवेशकों में उदासी है। ऐसे में पोस्ट ऑफिस कुछ राहत दे रहा है। पोस्ट आफिस की स्कीम किसान विकास Kisan Vikas Patra पत्र इन्हीं में से एक है।

अब लोगों में भविष्य को लेकर चिंता बेहद बढ़ गई है। ऐसे में नौकरी के शुरुआत में ही पैसा इंवेस्ट करना शुरू कर देते हैं। निवेश के लिए लोग बैंक, बीमा, पोस्ट ऑफिस, शेयर मार्केट आदि का सहारा लेते हैं।

हालांकि बैंक में अब ब्याज दरें बेहद कम हो गई है। वहीं शेयर मार्केट में रिस्क बेहद है। निवेशक ऐसी जगह पैसा लगाना चाहते हैं, जहां रिस्क शू्न्य और मुनाफा अच्छा मिले। हालांकि पोस्ट ऑफिस की एक स्कीम्स है। जिसमें बिना खतरे के रकम डबल हो जाती है। इस योजना का नाम किसान विकास पत्र है। आइए जानते हैं इस स्कीम के बारे में।

स्कीम की अवधि 10 साल 4 महीने है। किसान विकास पत्र में 6.9% का वार्षिक कंपाउंड ब्याज मिलता है। इसमें न्यूनतम एक हजार रुपए तक निवेश कर सकते हैं। इसमें इंवेस्टमेंट की अधिकतम सीमा नहीं है। इस योजना की शुरुआत 1988 में हुई थीं। भारतीय डाक के अनुसार देशभर में 1.5 लाख से अधिक पोस्ट ऑफिस में किसान विकास पत्र में निवेश करने की सुविधा है।

इन दस्तावेजों की जरूरत

आप किसान विकास पत्र स्कीम में निवेश करना चाहते हैं। तो आपने पास आधार कार्ड, एड्रेस प्रूफ, केवीपी फॉर्म, आयु प्रमाण पत्र, पासपोर्ट साइज फोटो और मोबाइल नंबर तैयार रखें। अगर 50 हजार से ज्यादा निवेश करते हैं, तब पैन कार्ड देना होगा। वहीं 10 लाख से अधिक इंवेस्टमेंट पर इनकम प्रूफ जमा करना होगा।

तीन तरह से खरीद सकते हैं

1. सिंगल होल्डर टाइप सर्टिफिकेट – यह सर्टिफिकेट खुद के लिए या नाबालिग के लिए खरीद सकते हैं।

2. ज्वाइंट A अकाउंट सर्टिफिकेट – इसे दो लोग मिलकर ले सकते हैं। दोनों होल्डर्स या जीवित को भुगतान होता है।

3. ज्वाइंट B अकाउंट सर्टिफिकेट – इसे दो वयस्कों को ज्वाइंट रूप से जारी किया जाता है। दोनों में से किसी एक को भुगतान होता है।

यह भी पढ़ें-  Anti-Sikh Riots of 1984 सिख विरोधी दंगा मामले में बढ़ सकतीं हैं कमलनाथ की मुश्किलें
Show More

Related Articles

Back to top button