AppsHOMETechज्ञान

Mobile App Alert तत्काल डिलीट कर दें ऐसे मोबाइल ऐप, उपयोग करना हो सकता है खतरनाक

तत्काल डिलीट कर दें ऐसे मोबाइल ऐप, उपयोग करना हो सकता है खतरनाक

Mobile App Alert इन दिनों अधिकांश काम मोबाइल से ही हो जाते हैं। यही कारण है कि अधिकांश लोग अपने मोबाइल में कई तरह ऐप इंस्टॉल करते हैं, लेकिन कई बार मोबाइल यूजर्स अनजाने में ऐसे मोबाइल ऐप भी इंस्टॉल कर लेते हैं, जो उनके लिए काफी खतरनाक साबित हो सकते हैं। यहां हम आपको कुछ ऐसे मोबाइल ऐप की कैटेगरी के बारे में जानकारी दें रहे हैं, जिन्हें अपने मोबाइल में इंस्टॉल करते समय सावधानी रखनी चाहिए क्योंकि ये मोबाइल ऐप आपकी प्राइवेसी के लिए खतरनाक हो सकते हैं और आपको उन्हें तुरंत डिलीट कर देना ही फायदेमंद होगा –

फोटो और वीडियो एडिटिंग ऐप

इन दिनों लोग अपनी तस्वीरों को बेहतर बनाने, उन्हें एडिट करने के लिए कई फोटो एडिटिंग ऐप डाउनलोड करते हैं। बहुत कम फोटो एडिटिंग ऐप्स सुरक्षित होते हैं। कई फोटो एडिटिंग ऐप्स को Google Play Store से बैन कर दिए जाते हैं, ये ऐप्स आपकी प्राइवेसी के लिए खतरा हो सकते हैं। ऐसे मोबाइल ऐप को तत्काल अपने मोबाइल से डिलीट कर देना चाहिए।

क्लीनर ऐप

कई मोबाइल फोन यूजर्स मोबाइल को ठंडा करने, स्पीड बढ़ाने, जंक फाइल्स और कैशे मेमोरी को साफ करने के लिए क्लीनर ऐप इंस्टॉल करते हैं। दरअसल ये मोबाइल ऐप मोबाइल को क्लीन करने के साथ-साथ पर्सनल डाटा चुराकर अपने सर्वर पर भेज देते हैं। इन ऐप्स से कई खतरे भी हैं। कई बार भारत सरकार ने भी ऐसे ऐप को बैन किया है। इनमें से ज्यादातर ऐप चाइनीज हैं।

फ्री एंटी वायरस ऐप से बचें

फोन को सुरक्षित रखने के लिए यदि आप अपने मोबाइल में एंटी वायरस ऐप्स इंस्टॉल करते हैं तो ऐसा करना गलत नहीं है, लेकिन किसी भी ऐप को फ्री में डाउनलोड करना खतरनाक हो सकता है। ऐसे ऐप में सुरक्षा एक बड़ा मुद्दा है। इसलिए फ्री एंटी वायरस ऐप डाउनलोड करने से बचें।

कीबोर्ड ऐप

स्टाइलिश टाइपिंग करने के लिए भी बहुत से लोग अपने फोन में विभिन्न प्रकार के कीबोर्ड ऐप इंस्टॉल करते हैं। ऐसे ऐप्स को अपने फोन में रखना नुकसानदायक हो सकता है। यह आपको बहुत जोखिम में डालता है। ये ऐप टाइप करते समय आपका बैंकिंग पासवर्ड और कुछ अन्य व्यक्तिगत जानकारी एकत्र कर सकते हैं।

फ्लैश लाइट ऐप

कई मोबाइल यूजर्स टॉर्च के लिए ऐप डाउनलोड करते हैं। ऐसे ऐप्स भी काफी खतरनाक होते हैं। ऐसे टॉर्च वाले मोबाइल ऐप भी निजी जानकारी अपने सर्वर पर भेजते हैं। अधिकांश मोबाइल फोन में इनबिल्ट फ्लैशलाइट का विकल्प होता है, उसी का इस्तेमाल करना चाहिए।

यह भी पढ़ें-  Health Tips: आहार में कर लें बस यह एक बदलाव, हृदय रोग और कैंसर जैसी समस्याएं रहेंगी दूर
Show More

Related Articles

Back to top button