HOMEधर्म

Guru Pushya Nakshatra: दीपावली के 6 दिन पहले 25 घंटे 57 मिनिट रहेगा खरीदी का महामुहूर्त पुष्य नक्षत्र

दीपावली के 6 दिन पहले 25 घंटे 57 मिनिट रहेगा खरीदी का महामुहूर्त पुष्य नक्षत्र

Advertisements

Guru Pushya Nakshatra 2021: इस साल धनतेरस के चार और दीपावली के छह दिन पहले खरीदी का महामुहूर्त गुरु पुष्य 28 अक्टूबर को होगा।

स्वर्ण आभूषण, भूमि-भवन के साथ चल-अचल संपत्ति की खरीदी के लिए नक्षत्रों का राजा पुष्य 25 घंटे 57 मिनिट रहेगा। गुरु-पुष्य के संयोग को कार्य में सिद्धि देने वाला सर्वार्थ सिद्धि और रवि योग ओर भी खास बना रहा है।

ज्योतिर्विद के मुताबिक गुरु पुष्य में की गई खरीदारी चिर स्थायी फल प्रदान करने वाली होती है। इस खास मौके के लिए इंदौर सराफा बाजार को व्यापारियों द्वारा आकर्षक विद्युत सज्जा से सजाया जाएगा। ज्योतिर्विद् राजेश चौबे के मुताबिक इस दिन सोना-चांदी और भूमि-भवन की खरीदारी विशेष लाभदायक मानी गई है।

कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की सप्तमी तिथि पर 28 अक्टूबर गुरुवार को पुष्य नक्षत्र की शुरुआत सुबह 9.41 बजे से होगी। पुष्य नक्षत्र 29 अक्टूबर शुक्रवार को सुबह 11.38 बजे तक रहेगा। 28 को रवियोग सुबह 9.30 बजे तक और सर्वार्थ सिद्धि योग दिवस पर्यंत रहेगा। धनतेरस 2 नवंबर और 4 नवंबर को दीपावली होगी।

गुरु पुष्य में व्यक्ति अपने लक्षय साधकर जिस भी कार्य का श्रीगणेश करता है उसमें सफलता प्राप्त होती है। 27 नक्षत्रों में से एक पुष्य नक्षत्र को नक्षत्रों का राजा कहा गया है। यह नक्षत्र गुरुवार को आता है तो इसका महत्व कई गुना बढ़ जाता है। इसे श्रेष्ठतम मंगलकारी योग में से एक माना गया है। इस दिन जो नई वस्तु, जमीन-मकान, वाहन, स्वर्ण आभूषण के अलावा नया व्यापार शुरू करते हैं। उन पर देवी महालक्षमी की विशेष कृपा होती है।

गुरु पुष्य के संयोग में कब रहेगा कौनसा चौघड़िया

– चर : सुबह 10.30 से दोपहर 12 बजे तक।

– लाभ : दोपहर 12.01 से 1.30 बजे तक ।

– अमृत : दोपहर 1.31 से 3 बजे तक।

– शुभ : दोपहर 4.30 से शाम 6 बजे तक

– अमृत : शाम 6.01 से 7.30 बजे तक।

– चर : शाम 7.31 से रात 9 बजे तक।

यह भी पढ़ें-  PM Kisan 10th Installment: किसानों के खातों में आएंगे 4,000 रुपए, जल्द करें ये काम, वरना अटक सकते हैं पैसे
Show More

Related Articles

Back to top button