मध्यप्रदेशहाेम

जमीन पर रगड़ी एड़ी, निकलने लगी आग, फिर लगा दिया शख्स को 35 हजार का चूना

जमीन पर रगड़ी एड़ी, निकलने लगी आग, फिर लगा दिया शख्स को 35 हजार का चूना

Advertisements

भोपाल। मध्यप्रदेश में कई प्रकार के बाबाओं की किस्से अक्सर चर्चित होते हैं । लोग इन बाबाओं के चंगुल में फंस कर धन बर्बाद कर देते हैं अब फिर ऐसा ही मामला मध्यप्रदेश की राजधानी में सामने आया।

राजधानी भोपाल की बागसेवनिया पुलिस ने ऐसे ही एक कपूर वाले बाबा और उनके 6 शिष्यों को गिरफ्तार किया है। बाबा जमीन पर एड़ी रगड़ कर आग निकालते थे और फिर शिकंजे में फंसे व्यक्ति के पास जितना भी पैसा होता था, हड़प लेते थे।

आलीराजपुर के रहने वाले अखिलेश रावत पुत्र लालू सिंह रावत ने बताया कि वह 5 अक्टूबर को बरकतउल्ला यूनिवर्सिटी आया था। यूनिवर्सिटी से बाहर निकलकर बागसेवनिया बाजार की तरफ जा रहा था। अहमदपुर दरगाह से आगे एक व्यक्ति मेरे पास आकर पता पूछने लगा। मैंने कहा कि मैं बाहर का हूं। इसके बाद आरोपी बात करते हुए मेरे साथ-साथ चलने लगा। कुछ दूरी पर एक और व्यक्ति पीछे से आया। वह भी पता पूछने लगा। दोनों मेरे साथ कुछ दूर तक गए। थोड़ी देर बाद एक आरोपी ने खुद को उज्जैन का सिद्ध बाबा बताया। मुझे विश्वास नहीं हुआ तो तंत्र विद्या कर एक व्यक्ति ने पैर रगड़कर आग जला दी। फिर कहा, तेरी जेब में जो भी हैं, वह मेरे हाथ में रख दे। मैंने डर के कारण जेब से निकलकर उसे 35 हजार रुपए दे दिए। उसने मुझसे कहा कि पीछे मुड़कर 51 कदम जा। वहां भगवान के दर्शन होंगे। मैं 51 कदम गया। वापस मुड़ा, तो दोनों फरार हो चुके थे।

अदृश्य हुए बाबा को CCTV फुटेज में से खोज निकाला

पुलिस ने अज्ञात आरोपियों पर 30 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था। पुलिस टीम ने घटनास्थल के आसपास पूछताछ के साथ शहर के करीब 90 CCTV कैमरों के फुटेज की जांच की। इसी आधार पर ऐशबाग निवासी राहुल साहू पुत्र मुन्नालाल साहू पकड़ा गया। पुलिस ने उसकी निशानदेही पर छोला मंदिर निवासी संतोष कटकोले, अशोका गार्डन निवासी मोहित रैकवार, छोला निवासी राजू विश्वकर्मा उर्फ मोनू, ऐशबाग निवासी सुमित रत्नाकर और देवी सिंह को पकड़ा।

पूरा गिरोह प्लानिंग के साथ काम करता है। एक व्यक्ति शिकार से बातचीत शुरु करता है। तभी दूसरा व्यक्ति आ जाता है। दोनों आपस में बात करने लगते हैं। पहला व्यक्ति खुद को उज्जैन का सिद्ध बाबा बताता है। दूसरे व्यक्ति का भविष्य बताता है। दूसरा व्यक्ति बाबा के चमत्कार से प्रभावित होने का नाटक करता है। इसी दौरान जेब से कपूर निकाल कर जमीन पर गिरा दिया जाता है। बाबा कपूर के ऊपर पैर रख लेता है और फिर निर्धारित स्क्रिप्ट के अनुसार बाबा जमीन पर एड़ी रगड़ता है, उसमें से धुआं निकलने लगता है। दोनों के बीच में फसा शिकार, दहशत में आ जाता है और फिर वह सब कुछ करता है जो बाबा चाहता है।

यह भी पढ़ें-  SI-ASI EXAM 2019 की Final Answer Keys अपलोड
Show More
Back to top button