मध्यप्रदेशहाेम

SDM के घर घुसे चोर छोड़ गए चिट्ठी, ज्यादा पैसे नहीं थे तो ताला क्यों लगाया

एसडीएम के घर घुसे चोर छोड़ गए चिट्ठी, ज्यादा पैसे नहीं थे तो ताला क्यों लगाया

Advertisements

देवास। चोर सरकारी अफसरों के घरों में बड़ी चोरी की नीयत से घुसते हैं, लेकिन हाथ ज्यादा कुछ नहीं लगे तो उन्हें लगता है मेहनत पर पानी फिर गया। देवास में एसडीएम के सरकारी मकान में चोरों को ज्यादा सामान नहीं मिला तो चोर नाराज हो गए। चोरों अपने हाथों से लिखकर एक चिट्ठी छोड़ गए। जिसमें लिखा था कि जब पैसे नहीं थे लाक नहीं करना था कलेक्टर। चोरों की ऐसी अजीब चिट्ठी पढ़कर एक बार तो एसडीएम के चेहरे पर मुस्कान आ गई।

यह भी पढ़ें-  मध्य प्रदेश के 9 जिलों में तेज बारिश का येलो अलर्ट, 22 में आंधी तूफान की संभावना

दरअसल, खातेगांव में पदस्थ एसडीएम त्रिलोचन गौड़ का शहर के सिविल लाइन में सरकारी आवास है। वे वर्तमान में खातेगांव में पदस्थ हैं। इसलिए करीब 15 दिन से उनका घर सुना था। इस दौरान चोरों ने चोरी की घटना को अंजाम दिया। चोरों ने जब घर खंगाला तो ज्यादा कीमती सामान नहीं मिली। कुछ नगदी और ज्वलेरी चोरी हुई है, लेकिन जाते वक्त चोरों ने एसडीएम के नाम चिट्ठी लिखकर अपना गुस्सा उतारा। जिसके लिए उन्होंने एसडीएम के घर से ही पेन और कागज लिया और लिखा कि जब पैसे नहीं थे तो लाक नहीं करना था कलेक्टर।

यह भी पढ़ें-  CBSE 10वीं और 12वीं के टर्म एग्जाम की डेट शीट का ऐलान

सूचना के बाद एसडीएम गौड़ और कोतवाली टीआई उमरावसिंह आवास पर पहुंचे थे। पुलिस को मौके से चिट्ठी मिली। टीआई सिंह ने बताया कि एक सोनी की अंगुठी और कुछ हजार नगद गए हैं। एसडीएम गौड़ ने बताया कि बड़ा अधिकारी समझकर चोर बड़े माल की उम्मीद लेकर चोरी करने घुसे होंगे। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। एसडीएम ने बताया कि जब वे घर पहुंचे तो घर का पूरा सामान अस्त व्यस्थ था। आलमारी का पूरा सामान पलंग पर था। चोर टेबल पर ही चिट्ठी रखकर ताकि हमें आसानी मिली जाए।

यह भी पढ़ें-  BJP ही एक मात्र ऐसा राजनीतिक दल जहां प्रत्येक कार्यकर्ता का सम्मान: रामरतन पायल
Show More
Back to top button