राष्ट्रीयहाेम

1932 में जेआरडी टाटा द्वारा शुरू ‘टाटा एयरलाइंस”, एयरइंडिया बन कर फिर पहुंची टाटा के पास

1932 में जेआरडी टाटा द्वारा शुरू टाटा एयरलाइंस, एयरइंडिया बन कर फिर पहुंची टाटा के पास

Advertisements

नई दिल्ली. देश की सरकारी एअरलाइंस (Air India) अब टाटा समूह (TATA Group) की हो गई है. रतन टाटा (Ratan Tata) ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है. उन्होंने जेआरडी टाटा की एक तस्वीर शेयर कर लिखा है-वेलकम बैक. टाटा ने एअर इंडिया के लिए 18,000 करोड़ की बोली लगाई थी.

उन्होंने एक नोट शेयर किया है जिसमें लिखा है- टाटा ग्रुप द्वारा एअर इंडिया की बोली जीतने की खबर बेहद खुशी वाली है. एअर इंडिया को दोबारा खड़ा करने में अच्छी-खासी मेहनत लगेगी. आशा है कि ये उड्डयन के क्षेत्र में टाटा ग्रुप की मौजूदगी को और ताकतवर बनाएगी. उन्होंने जेआरडी टाटा को याद करते हुए लिखा है-अगर वो आज होते इस क्षण को देखकर बेहद खुश होते.

यह भी पढ़ें-  Gangrape महिला से सिपाही ने दोस्तों के साथ मिलकर किया दुष्कर्म, तीन गिरफ्तार

टाटा ने किया था लॉन्च
बता दें कि 1932 में जेआरडी टाटा ने एयर इंडिया को टाटा एयरलाइंस के नाम से लॉन्च किया था. 1946 में टाटा एयरलाइंस का नाम बदल कर के एयर इंडिया कर दिया गया. 1953 में सरकार ने एयर इंडिया को टाटा से खरीद लिया था. साल 2000 तक यह सरकारी एयरलाइन मुनाफे में चलती रही. लेकिन 2001 के बाद इसके बुरे दिन शुरू हो गए. एयर इंडिया के घाटे को लेकर कई अधिकारियों पर गाज गिरी थी.

धीरे-धीरे घाटा बढ़ता गया और एयर इंडिया पर कर्ज चढ़ता गया. जब सरकार को कर्ज से छुटकारा पाने का कोई रास्ता नहीं सूझा तो इसे बेचने का फैसला किया गया. इकलौती सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया इन दिनों आकण्ठ कर्ज में डूबी हुई है. इस पर 58 हजार करोड़ रुपये से अधिक का कर्ज है. आलम ये है कि यहां काम करने वाले कर्मचारियों को समय पर वेतन तक नहीं मिल पा रहा है.

Show More
Back to top button