Politicsमध्यप्रदेश

अरुण यादव ने भाजपा ज्वाइन करने की अफवाहों को नकारा, ये कहा….

अरुण यादव ने भाजपा ज्वाइन करने की अफवाहों को नकारा, ये कहा....

Advertisements

भोपाल। मध्यप्रदेश की खंडवा लोकसभा सीट पर 30 अक्टूबर को होने वाला उपचुनाव लड़ने से इनकार करने के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव को लेकर कई तरह की अफवाहें सामने आ रही थी। अपने पारिवारिक कारणों का हवाला देकर वह खंडवा सीट से चुनाव लड़ने से पहले ही हट गए हैं। ऐसे में इस बात की चर्चा तेज थी कि वह खुद ही क्यों पीछे हटे। वहीं राजनीतिक गलियारों में यह भी अफवाह थी कि वह भाजपा ज्वाइन कर सकते हैं। मंगलवार को अरुण यादव ने इस तरह की सभी अफवाहों को नकार दिया है। साथ ही उनकी पार्टी से अनबन की भी अफवाहें चल ही थी। इन सब को लेकर मंगलवार को अरुण यादव ने चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि मुझे किसी से कोई नाराजगी नहीं है और न ही मैं कांग्रेस छोड़कर कहीं जा रहा हूं। यादव ने कहा कि मैं केवल निजी कारणों से चुनाव नहीं लड़ रहा हूं।

यह भी पढ़ें-  सड़क हादसे में कंप्यूटर बाबा का वाहन दुर्घटनाग्रस्त, बाल बाल बचे बाबा

बता दें कि पूर्व मंत्री अरुण यादव ने यादव ने कहा था कि निजी और पारिवारिक कारणों से खंडवा लोकसभा सीट के उपचुनाव से अपनी दावेदारी वापस ली है। मैं इस बात के लिए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पार्टी के तमाम बड़े नेताओं का आभार व्यक्त करता हूं कि मुझे खंडवा सीट से चार बार लोकसभा चुनाव लड़ने का मौका दिया गया और मुझे अहम पदों से नवाजा गया। उन्होंने कहा कि खंडवा लोकसभा सीट के उपचुनाव में किसी नौजवान और निष्ठावान कांग्रेस नेता को पार्टी का टिकट मिलना चाहिए। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि इस उपचुनाव में कांग्रेस का जो भी अधिकृत उम्मीदवार होगा, हम सब उसे जिताने के लिए पूरी निष्ठा और ईमानदारी से काम करेंगे ताकि हम राज्य में वर्ष 2023 में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए भी अपनी तैयारी मजबूत कर सकें।

यह भी पढ़ें-  Terrorist in MP: सिमी ने मालवा-निमाड़ के जंगल में लगाए थे कैंप

इन सीटों पर होगा चुनाव
प्रदेश की खंडवा लोकसभा सीट (Khandwa Loksabha Seat Upchunav) और पृथ्वीपुर (Prathvipur Vidhansabha Upchunav), जोबट (Jobat Vidhansabha Upchunav) और रैगांव विधानसभा सीटों (Raigaon Vidhansabha Upchunav) पर उपचुनाव होना है। खंडवा सीट पर भाजपा ने कद्दावर नेता नंदकुमार सिंह चौहान बीते चुनावों में लोकसभा सांसद चुने गए थे। बीते महीनों में नंदकुमार सिंह चौहान का निधन हो गया था। इसके बाद से यह सीट खाली है। वहीं कोरोना की दूसरी लहर में निवाड़ी पृथ्वीपुर से कांग्रेस विधायक बृजेंद्र प्रताप सिंह (Brajendra Pratap Singh), जोबट से कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया (Kalawati Bhuriya) और रैगांव से भाजपा विधायक जुगल किशोर बागरी का निधन हो गया था। इसके बाद से ये सीटें खाली पड़ी हैं। अब जल्द ही इन सीटों के लिए चुनावों (Jugal Kishor Bagari) की घोषणा की जा सकती है।

यह भी पढ़ें-  मध्यप्रदेश में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षकों के ट्रांसफर
Show More
Back to top button