मध्यप्रदेशहाेम

MP Weather: जबलपुर, रीवा, शहडोल, सागर, भोपाल, सहित कई संभागों के जिलों में बौछारे पड़ने की संभावना

MP Weather: जबलपुर, रीवा, शहडोल, सागर, भोपाल, सहित कई संभागों के जिलों में बौछारे पड़ने की संभावना

Advertisements

MP Weather । जबलपुर, ग्वालियर, चंबल, भोपाल, होशंगाबाद, इंदौर एवं उज्जैन संभागों के जिलों में अनूपपुर, डिंडोरी, पन्ना, दमोह एवं सागर जिले में गरज-चमक के साथ बिजली गिरने की संभावना है। होशंगाबाद एवं इंदौर संभाग के जिलों में कुछ स्थानों पर व जबलपुर, रीवा शहडोल, सागर, भोपाल, उज्जैन, ग्वालियर एवं चंबल संभागों के जिलों में कहीं-कहीं बौछारे पड़ने की संभावना है। इधर, मौसम विभाग के अनुसार शहर के कुछ हिस्सों में मंगलवार को गरज-चमक के साथ हल्की बारिश होने की संभावना है। इस दौरान मौसम आंशिक रूप से मेघमय रहेगा। वहीं, 14 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी।

यह भी पढ़ें-  बड़ी खबर: 28 फीसदी से बढ़कर 31 फीसदी हुआ DA केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनधारियों को खुशखबरी

बता दें कि पिछले 24 घंटे के दौरान प्रदेश के इंदौर एवं होशंगाबाद संभागों के जिलों में अनेक स्थानों पर भोपाल और उज्जैन संभागों के जिलों में कुछ स्थानों पर, रीवा शहडोल, जबलपुर, सागर एवं चंबल संभागों के जिलों में कहीं-कहीं बारशि दर्ज की गई है। ग्वालियर संभाग के जिलों में मौसम शुष्क रहा।

उज्जैन संभाग के जिलों में अधिकतम तापमान काफी गिरा है। शेष संभागों के जिलों में विशेष परिवर्तन नहीं हुआ। प्रदेश में सबसे अधिक तापमान 36 डिग्री सेल्सियस ग्वालियर और खजुराहो में दर्ज किया गया। मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्व वरिष्ठ मौसम विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि दक्षिणी गुजरात पर बने सिस्टम के कारण अरब सागर से नमी आ रही है। उधर, वर्तमान में अधिकतम तापमान बढ़ा हुआ है। इस वजह से दोपहर के बाद प्रदेश के कुछ जिलों में गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ रही हैं। गुजरात पर बना सिस्टम राजस्थान की तरफ खिसक गया है। इसके बाद इस सिस्टम के प्रभाव से वातावरण से नमी तेजी से कम होने लगेगी और बारिश की गतिविधियां थमने लगेंगी। छह अक्टूबर से राजस्थान के कुछ क्षेत्रों से मानसून की विदाई होने की भी संभावना है।

यह भी पढ़ें-  Covid-19 R Value: भारत में सितंबर से लगातार कम हैं R-वैल्यू, क्या खत्म हो रहा कोरोना का खतरा
Show More
Back to top button